Samsung R&D Centre in Bengaluru Switches to Solar Energy, Ties up with Solar Farm 500 km Away

बेंगलुरु में सैमसंग के आरएंडडी सेंटर ने अपने कैंपस के लिए सौर ऊर्जा अपनाने का फैसला किया है। आरएंडडी सेंटर का कैंपस, जिसमें 3,000 से ज़्यादा कर्मचारी हैं, अपनी बिजली की ज़रूरतों का लगभग 88 प्रतिशत हिस्‍सा कर्नाटक के कालबुर्गी जिले में स्थित सोलर फार्म से हासिल करेगा, जो बेंगलुरु से लगभग 500 किलोमीटर दूर है।

500 किलोमीटर दूर स्थित सोलर फार्म के साथ कैसे काम करता है?

दिसंबर 2018 में सैमसंग आरएंडडी इंस्‍टीट्यूट, बेंगलुरु (एसआरआई-बी), जो कोरिया से बाहर सैमसंग का सबसे बड़ा आरएंडडी सेंटर है, ने ‘एनर्जी व्‍हीलिंग’ नामक विधि के ज़रिये हरित ऊर्जा के क्षेत्र में कदम रखा।

बागमेन ग्रीन पावर एलएलपी द्वारा कालबुर्गी में स्‍थापित किए गए सोलर फार्म ने एसआरआई-बी के साथ सहयोग किया है। ‘एनर्जी व्‍हीलिंग’ के ज़रिये, सोलर फार्म आवश्‍यक बिजली को राज्‍य के इले‍क्‍ट्रिसिटी ग्रिड में जोड़ देता है और एसआरआई-बी बदले में उतनी ही बिजली स्‍थानीय इलेक्‍ट्रिसिटी ग्रिड से हासिल करता है।

यह विधि ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्‍यूशन लॉस को कम करती है, जिससे यह ज़्यादा ऊर्जा कुशल बन जाती है।

सौर ऊर्जा क्‍यों?

एसआरआई-बी ने अपने कैंपस के लिए गो ग्रीन इनीशियेटिव के तहत, मार्च 2016 से गैर-पारंपरिक ऊर्जा स्रोतों के उपयोग को बढ़ाने की प्रक्रिया शुरू की। यह कदम पारंपरिक पावर ग्रिड पर एसआरआई-बी की निर्भरता को कम करेगा, जिससे बाकी कामों के लिए ऊर्जा उपलब्‍ध होगी।

एसआरआई-बी ने इसके बाद अपनी बिजली की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए सौर ऊर्जा आपूर्तिकर्ताओं की तलाश शुरु की। दिसंबर 2018 से आरएंडडी सेंटर ने कोयले जैसे पारंपरिक स्रोतों से प्राप्‍त ऊर्जा पर निर्भर होने की बजाये 8 लाख यूनिट की सौर ऊर्जा का इस्‍तेमाल किया है।

एसआरआई-बी के मैनेजिंग डायरेक्टर दीपेश शाह ने कहा, ‘हमारा सौर ऊर्जा को अपनाना सैमसंग के सामाज और पर्यावरण के लिए जिम्‍मेदार नागरिक होने के मूल्‍यों का प्रतीक है। इस इनीशियेटिव के ज़रिये हमने न केवल ऊर्जा के पारंपरिक स्रोतों पर अपनी निर्भरता को कम किया है, बल्कि हम अपने कार्बन उत्‍सर्जन को कम करके पर्यावरण पर एक सकारात्‍मक प्रभाव डालेंगे और अगली पीढ़ी को एक हरीभरी दुनिया सौंपेंगे।’

एसआरआई-बी ने पर्यावरण-फ्रेंडली व्‍यवहार को बढ़ावा देने के लिए अपने कर्मचारियों के बीच इन सालों में कई विभिन्‍न अभियान चलाए हैं। कंपनी ने हाल ही में सिंगल-यूज़ प्‍लास्टिक की बोतलों के उपयोग को कम करने के लिए एक अभियान चलाया था। पिछले साल कंपनी ने कई वृक्षारोपण अभियान चलाए और साथ ही कई कार्यक्रम आयोजित किए, जिसके ज़रिए कर्मचारियों को वेस्ट चीज़ों को रीसाइकल और रीयूज़ करने के लिए प्रोत्‍साहित किया गया।