Breaking News
Home / हेल्थ / देवीनगर अरबन पीएचसी को मिला नेशनल क्वालीटी एश्योरेंस स्टेन्डर्डस सर्टिफिकेट

देवीनगर अरबन पीएचसी को मिला नेशनल क्वालीटी एश्योरेंस स्टेन्डर्डस सर्टिफिकेट

गुणवत्ता आश्वासन कार्यक्रम- देवीनगर अरबन पीएचसी को मिला नेशनल क्वालीटी एश्योरेंस स्टेन्डर्डस सर्टिफिकेट

जयपुर 8 मई 2019 विशिष्ट शासन सचिव एवं मिशन निदेशक एनएचएम डॉ. समित शर्मा ने बुधवार को जयपुर के देवी नगर स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र (यूपीएचसी) की चिकित्सा सुविधाओं का अवलोकन किया एवं देवीनगर अरबन पीएचसी को गुणवत्ता आश्वासन कार्यक्रम के तहत 93.8 प्रतिशत अंक प्राप्त पर नेशनल क्वालीटी एश्योरेंस स्टेन्र्डस सर्टिफिकेट एवं ट्राफी प्रदान की। इस अवसर पर उन्होंने यूपीएचसी प्रभारी डॉ. अनिल नायर एवं उनकी पूरी टीम को पुष्पगुच्छ प्रदान कर बधाई दी।
डॉ. शर्मा ने बताया कि केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की गाईडलाईन के अनुसार गुणवत्ता आश्वासन कार्यक्रम के तहत चयनित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र देवीनगर राज्य का पहला शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र है। नेशनल क्वालीटी एश्योरेंस स्टेन्र्डस सर्टिफिकेट के अन्तर्गत चिकित्सा संस्थान को 3 वर्षों तक प्रतिवर्ष 3 लाख रुपये प्रोत्साहन राशि के रूप में प्रदान किये जायेंगे। इस राशि में से 75 प्रतिशत राशि चिकित्सालय के रखरखाव व चिकित्सा सुविधाओं के विस्तार एवं सुदृढ़ीकरण हेतु किया जा सकता है। चिकित्सालय के प्रति जिम्मेदारी, लगाव एवं अपनत्व की भावना बनाये रखने के लिये शेष 25 प्रतिशत राशि का चिकित्सा संस्थान पर कार्यरत अधिकारियों व कार्मिकों को आनुपातिक रूप से प्रेरणास्वरूप राशि प्रदान की जायेगी।
मिशन निदेशक ने बताया कि राजकीय चिकित्सालयों में स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ किये जाने हेतु संचालित गुणवत्ता आश्वासन कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य रोगियों में संतुष्टि स्तर को बढ़ाना है। कार्यक्रम के अन्तर्गत चिकित्सा संस्थानों का चार चरणों में मूल्यांकन किया जाता है। प्रथम चरण में स्वयं चिकित्सा संस्थान द्वारा मूल्यांकन किया जाता है एवं चिन्हित गैप को पूरा कर जिला स्तरीय गुणवत्ता आश्वासन ईकाई द्वारा द्वितीय मूल्यांकन किया जाता है। द्वितीय मूल्यांकन में चिकित्सा संस्थान द्वारा 70 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने पर राज्य गुणवत्ता आश्वासन ईकाई द्वारा तृतीय मूल्यांकन किया जाता है। इस मूल्यांकन में 70 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने पर भारत सरकार से अधिकृत अधिकारियों द्वारा अंतिम मूल्यांकन किया जाता है।
पांच बार टीमें निरीक्षण कर चुकी राज्य स्तरीय टीमें
डॉ. शर्मा ने बताया कि स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण हेतु विशेष प्रयास किये जा रहे हैं। विभाग की ओर से प्रदेश के सभी अस्पतालों में स्वच्छता, बायोमेडिकल वेस्ट, बायोमेट्रिक उपस्थिति के साथ-साथ निःशुल्क दवाइयों एवं जांच सेवाओं सहित विभिन्न सेवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये राज्य स्तर से प्रतिमाह निरीक्षण दल भेजे जा रहे हैं। अब तक 5 बार राज्य स्तर से निरीक्षण किया जा चुका है। ये दल चिकित्सा संस्थान का निरीक्षण कर वहां मिलने वाली कमियों को चिन्हित कर आवश्यक सुधार किया जाना सुनिश्चित कर रहे हैं।
‘‘मेरा अस्पताल’’ पोर्टल कार्यक्रम को सीएचसी स्तर पर भी करेंगे लागू
 मिशन निदेशक ने कहा कि विभाग द्वारा संचालित मेरा अस्पताल पोर्टल कार्यक्रम को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर भी लागू किया जायेगा। इसके तहत अस्पताल में रोगियों को मिली स्वास्थ्य सेवाओं के बारे में उनका फीडबैक लिया जायेगा। इस अवसर पर अतिरिक्त मिशन निदेशक एनएचएम श्री एस.एल. कुमावत, निदेशक जनस्वास्थ्य डॉ. वी.के. माथुर एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जयपुर प्रथम डॉ. नरोत्तम शर्मा सहित संबंधित अधिकारीगण मौजूद थे।
अरबन पीएचसी प्रभारी डॉ. नायर ने बताया कि बैठक सभागार सहित कुल 11 कक्षों में स्वास्थ्य केन्द्र को संचालित किया जा रहा है। आमजन को दी जाने वाली चिकित्सा सुविधाओं का फीडबैक एवं सुझाव जानने के लिये यहां एक शिकायत पेटी रखी गयी है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य केन्द्र में धात्री माताओं को उनके शिशु को स्तनपान कराने के लिये अलग से कार्नर बनाया गया है। निःशुल्क सेनेटरी पैड हेतु एक वेंडिंग मशीन भी स्थापित की हुयी है। आमजन को विभागीय कार्यक्रमों एवं योजनाओे की जानकारी के लिये प्रचार-प्रसार सामग्री प्रदर्शित की गयी है।

About Patrika Jagat

Check Also

सैंकड़ों एकड़ में बनेगी अजमेर की मेडीसिटी- डॉ. रघु शर्मा

जयपुर 22 जून 2019 चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा की अगुवाई में अजमेर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *