एक्सिस बैंक ने ‘भारतीय कृषि में महत्‍वपूर्ण सुधार किया

Edit-Rashmi Sharma

जयपुर 26 जून 2020 भारत के तीसरे सबसे बड़े प्राइवेट बैंक, एक्सिस बैंक ने ‘भारतीय कृषि में महत्‍वपूर्ण सुधार – कृषि उद्यमों में निवेश के उभरते अवसर’ (लैंडमार्क रिफॉर्म्‍स इन इंडियन एग्रिकल्‍चर – इन्‍वेस्‍टमेंट ऑपर्च्‍युनिटीज एराइजिंग इन एग्री-एंटरप्राइजेज’ पर वैश्विक वेबिनार का सह-आयोजन किया। ‘एक भारत, एक कृषि बाजार’ (वन इंडिया, वन एग्रिकल्‍चर मार्केट) के निर्माण के जरिए भारत के कृषि क्षेत्र में बदलाव लाने हेतु हाल ही में घोषणा किये गये सुधारों के बाद यह वेबिनार आयोजित किया गया है। तीन अध्‍यादेशों के जरिए इन सुधारों की घोषणा की गयी है: 1. एसेंशियल कमोडिटीज (संशोधन) अध्‍यादेश 2020, 2. फार्मिंग प्रोड्यूस ट्रेड एंड कॉमर्स (प्रोमोशन एंड फेसिलिटेशन) अध्‍यादेश, 2020 और 3. फार्मर्स (एम्‍पॉवरमेंट एंड प्रोटेक्‍शन) एग्रीमेंट ऑन प्राइस एश्‍योरेंस एंड फार्म सर्विसेज अध्‍यादेश, 2020।

एक्सिस बैंक और भारत के प्रमुख ऑनलाइन कृषि-व्‍यापार मंच, एग्रिबाजार द्वारा संयुक्‍त रूप से आयोजित यह वेबिनार, ‘वन इंडिया, वन एग्रिकल्‍चर मार्केट’ सुधारों की घोषणा के बाद आयोजित इंडस्‍ट्री का पहला इवेंट है। यह वेबिनार आज ही कुछ समय पहले आयोजित हुआ। वरिष्‍ठ सरकारी अधिकारियों और निजी क्षेत्र के ग्‍लोबल लीडर्स ने इसमें हिस्‍सा लिया।

श्री अखिलेश तिलोतिया, हेड – स्‍ट्रेटजी एवं न्‍यू इनिशियेटिव्‍स, एक्सिस बैंक ने कार्यक्रम का संचालन किया। कार्यक्रम के बारे में, श्री तिलोतिया ने बताया, ”कृषि और ग्रामीण भारत‍ पर एक्सिस बैंक के जोर के अनुरूप इस वेबिनार में हमने सहभागिता की। हम भारत के कृषि क्षेत्र को लेकर हमेशा ही मुखर रहे हैं। केंद्र सरकार के हाल के अध्‍यादेश हमारी धारणा को और मजबूती देते हैं। इन प्रगतियों से देश के लाखों को किसानों को लाभ मिलेगा। हमें संपूर्ण मूल्‍य-श्रृंखला में निजी क्षेत्र में कृषि उद्यमों के लिए अवसर दिख रहे हैं। यह वेबिनार सही समय पर आयोजित हो रहा है। सुधारों पर करीब से काम करने वाले सीनियर ब्‍यूरोक्रेट्स और इंडस्‍ट्री के प्रमुख लीडर्स की भागीदारी से कई व्‍यावहारिक विचार सामने आये।”

इस वेबिनार के लिए 6500 से अधिक पंजीकरण हुए थे, जिसमें 16 देशों के 500 से अधिक पंजीकरण भी शामिल हैं। यह भारतीय कृषि में हो रहे महत्‍वपूर्ण बदलावों की चर्चा हेतु फलप्रद मंच था। वेबिनार के पैनलिस्‍ट्स में क्षेत्र से जुड़े सर्वोच्च ब्‍यूरोक्रेट्स शामिल रहे: श्री संजय अग्रवाल, आईएएस, सचिव (कृषि); डॉ. राजीव रंजन, आईएएस, सचिव (मछली पालन); श्री अतुल चतुर्वेदी, आईएएस, सचिव (पशुपालन), और सुश्री पुष्‍पा सुब्रमण्‍यम, आईएएस, सचिव (फूड प्रोसेसिंग इंडस्‍ट्रीज), भारत सरकार। टेमासेक इंटरनेशनल के प्रबंध निदेशक – एग्रिबिजनेस, श्री अनुज माहेश्‍वरी; सीडीसी ग्रुप के प्रबंध निदेशक और हेड, एशिया, श्री श्रृणि नागराजन; आईटीसी लिमिटेड के ग्रुप हेड – कृषि एवं आईटी व्‍यवसाय, श्री एस. शिवकुमार, और गोदरेज एग्रोवेट के प्रबंध निदेशक, श्री बलराम यादव ने निजी क्षेत्र और वैश्विक निवेशकों का प्रतिनिधित्‍व किया।

 एक्सिस बैंक के बारे में:

एक्सिस बैंक भारत का तीसरा सबसे बड़ा निजी क्षेत्र का बैंक है। एक्सिस बैंक लार्ज और मिड-कॉरपोरेट्स, एसएमई, एग्रीकल्चर और रिटेल बिजनस को कवर करने वाले कस्टमर सेगमेंट को संपूर्ण स्पेक्ट्रम प्रदान करता है। 31 मार्च 2020 तक देश भर में इसकी 4,528 घरेलू शाखाओं (एक्सटेंशन काउंटरों सहित) और 12,044 एटीएम के साथ, एक्सिस बैंक का 2,521 केंद्रों का नेटवर्क है, जिससे बैंक, श्रृंखलाबद्ध उत्‍पादों व सेवाओं के साथ बड़े पैमाने पर ग्राहकों तक पहुंचने में सक्षम है। एक्सिस ग्रुप में एक्सिस म्यूचुअल फंड, एक्सिस सिक्योरिटीज लिमिटेड, एक्सिस फाइनेंस, एक्सिस ट्रस्टी, एक्सिस कैपिटल, ए. ट्रेड्स लिमिटेड, फ्रीचार्ज और एक्सिस बैंक फाउंडेशन शामिल हैं।

एक्सिस बैंक के बारे में अधिक जानकारी हेतु, कृपया वेबसाइट पर जाएं: https://www.axisbank.com