लॉंँग टर्म हेल्थ इंश्योरंस के फायदे

Editor-Rashmi Sharma

जयपुर 17 अक्टूबर 2020 -पिछले कुछ महीनों में हेल्थ इंश्योरेंस में जबरदस्त तेजी आई है। महामारी और वायरस के बढ़ते डर के साथ, सेल्फ इम्युनिटी का निर्माण और घर पर अटक जाने के बावजूद, एक व्यक्ति के स्वास्थ्य का ख्याल रखना आवश्यक हो गया है। यदि किसी को अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता उत्पन्न होती है, चाहे वह वर्तमान वायरस के खतरे को लेकर हो या अन्य किसी कारण से, इस वजह से हेल्थ इंश्योरेंस हर किसी के लिए एक महत्वपूर्ण चीज बन गयी है।

बीमा कंपनिया और आईआरडीएआई ने पॉलिसीधारकों को कोविड १९ से संबंधित अस्पताल में भर्ती होने और अस्पताल की लागत को लेकर जुड़े क्लेम्स को स्वीकार किया जानेका एक बहुत ही बड़ा कदम उठाया है। दीर्घकालिक निरंतरता के साथ व्यापक लॉंँग टर्म हेल्थ इंश्योरंस योजनाओं की आवश्यकता ने अधिकतम लोकप्रियता प्राप्त की है।

इंश्योरटेक कंपनी टर्टलमिंट के सह-संस्थापक, धिरेंद्र मह्यावंशी हमे लॉंँग टर्म हेल्थ इंश्योरंस के बारे में बताते हैै।
लॉंँग टर्म हेल्थ इंश्योरंस योजनाएं दो या तीन वर्षों की न्यूनतम अवधि के लिए होती है । ये लॉंँग टर्म हेल्थ इंश्योरंस हैं, जो एक वर्ष के लिए खरीदने के बजाय, आप लंबे समय तक प्रीमियम का भुगतान करके लगातार दो या तीन वर्षों के लिए कवरेज का विकल्प चुनते हैं ।

लॉंँग टर्म हेल्थ इंश्योरंस चुनने के कई लाभ हैं-
१. हर साल नवीनीकरण का कोई तनाव नहीं
चूंकि लॉंँग टर्म हेल्थ इंश्योरंस योजनाओं में दो या तीन वर्षों का निरंतर कार्यकाल होता है, आप सालाना योजना को नवीनीकृत करने की परेशानी से मुक्त होते हैं।
यह वर्तमान महामारी के दौरान विशेष रूप से महत्वपूर्ण है। क्योंकि अगर आपके हेल्थ इंश्योरंस की अवधि इस दौरान समाप्त हो जाती है , जब आपको इसकी सबसे अधिक आवश्यकता होती है, और आप लॉकडाउन के कारण समय पर इसे
नवीनीकृत नहीं कर पाते हैं, तो निश्चित रूप से लॉंँग टर्म हेल्थ इंश्योरंस योजना इस समय काम आती है ।
२. गलती से पॉलिसी अवधि समाप्त होने की संभावना कम
चूंकि यह योजना एक लंबी अवधि की है, इसी कारण बार बार नवीनीकरण करने की आवश्यकता नहीं होती है, इस वजह से इसमें गलती से पॉलिसी अवधि समाप्त होने की संभावना कम होती है ।
३. प्रीमियम में छूट
जब आप लॉंँग टर्म हेल्थ इंश्योरंस योजनाएं खरीदते हैं , तो आप पॉलिसी के कार्यकाल में बीमा कंपनी के प्रति अपनी निष्ठा रखते हैं। बीमा कंपनी को पता है कि वो आपको अगले दो या तीन वर्षों के लिए एक ग्राहक के रूप में बनाए रखने में सक्षम होगी। इसे ध्यान में रख के कंपनी प्रीमियम में छूट प्रदान करती है। वास्तव में , आप दीर्घकालिक स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी चुनकर अपने प्रीमियम को ५ प्रतिशत से १५ प्रतिशत तक कम कर सकते हैं।
४. नो क्लेम बोनस की कोई चिंता नहीं
चूँकि आप दो या तीन साल के कार्यकाल के लिए अपना प्रीमियम अग्रिम रूप से अदा कर रहे हैं , इसलिए नो क्लेम बोनस ,वार्षिक स्वास्थ्य जांच आदि को बरकरार रखने की कोई चिंता नहीं है । प्रीमियम की रकम उस कार्यकाल तक निश्चित की जाती है जितने के लिए आप अपना प्रीमियम दे रहे हैं, जो आपके क्लेम, आयु वृद्धि या ऐसी किसी अन्य आर्थिक स्थिति से प्रभावित नहीं है जो आपके नियंत्रण में नहीं है।

लॉंँग टर्म हेल्थ इंश्योरंस योजना खरीदते समय ध्यान रखने योग्य बातें
१. चूंकि आप प्रीमियम का भुगतान एक ही बार में करते हैं, इसलिए कर लाभ केवल उसी वर्ष में उपलब्ध होता है जब आप पॉलिसी खरीदते हैं। अगले वित्तीय वर्ष में, आप पिछली पॉलिसी वर्ष में भुगतान किए गए प्रीमियम पर 80 डी लाभ का दावा नहीं कर सकते, भले ही अगले वर्ष में कवरेज की पेशकश की गई हो।
२. पॉलिसी की अवधि लंबी होने के कारण पॉलिसी का प्रीमियम भी बढ़ जाता है। इसलिए , आपको ऐसी योजना लेने से पहले अपनी आर्थिक जरूरतों की जांच करनी चाहिए।
3. आपको लॉंँग टर्म हेल्थ इंश्योरंस की कवरेज अवधि के दौरान अपनी योजना को पोर्ट करने की अनुमति नहीं होती है । सिर्फ नवीकरण के समय पर ही पोर्टिंग की अनुमति दी जाती है ।