भारत के अग्रणी गेट एक्जाम एडुकेटर्स अनएकेडमी से जुडे

Editor-Ravi Mudgal

जयपुर 11 जनवरी 2021-भारत के सबसे बड़े शिक्षण मंच, अनएकेडमी ने आज घोषणा की कि उसने देश के सबसे प्रशंसित गेट परीक्षा शिक्षक रविंद्रबाबू रावुला को अपने साथ एक विशेष शिक्षण भागीदार के रूप में जोडा है.

रविंद्रबाबू रावुला भारत में गेट परीक्षा के लिए सबसे अधिक मांग वाले शिक्षकों में से एक माने जाते है और टॉप रैंकर्स देने का उनका एक शानदार ट्रैक रिकॉर्ड भी है. हर साल, उनके कम से कम 300 छात्र गेट परीक्षा के टॉप 1000 में आते हैं. उनके यूट्यूब चैनल के 600,000+ फॉलोअर्स हैं, जो इसे भारत में गेट परीक्षा तैयारी के लिए सबसे बड़ा यूट्यूब चैनल बनाता है.

अनएकेडमी से जुड़ने के बाद, इन अनुभवी शिक्षक के पहले सेशन को शानदार प्रतिक्रया मिली, जब इसे रविवार, 10 जनवरी को यूट्यूब पर प्रसारित किया गया था. इसके बाद, छात्र 14 जनवरी, गुरुवार से अनएकेडमी मंच पर रावुला सर के फ्री लेक्चर में भाग ले सकते हैं और 18 जनवरी से प्लस कोर्स में हिस्सा ले सकते है. यह सहयोग परीक्षा तैयारी मार्केट के गेट और ईएसई सेगमेंट में अनएकेडमी की मजबूत और अग्रणी स्थिति को और मजबूत करेगा.

रोमन सैनी, को-फाउंडर, अनएकेडमी ने कहा, ” भारत में शिक्षा का लोकतंत्रीकरण करने के हमारे विजन का मुख्य सिद्धांत ये है कि हम सुनिश्चित कर सके कि हमारे छात्रों की सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों तक पहुंच बन सके. विभिन्न परीक्षा श्रेणियों में, हमारा प्रयास एजुकेटर्स के साथ सहयोग करना है जिन्होंने अपने क्षेत्र में गहरा प्रभाव डाला है, शानदार परिणाम दिए हैं और जो सभी शिक्षार्थियों के लिए शिक्षा तक सस्ती पहुंच सुनिश्चित करने के हमारे लोकाचार साझा करते हैं. रविन्द्रबाबू गेट एस्पिरेंट्स के लिए ऐसे ही एक एजुकेटर हैं, और हमें अनएकेडमी में उनका स्वागत करते हुए खुशी हो रही है.”

 

10 वर्षों के अकादमिक अनुभव के साथ, रवींद्रबाबू 10,000+ छात्रों को पढ़ाते हैं, जो हर साल उच्च प्रतियोगी गेट परीक्षा को क्रैक करने का लक्ष्य रखते हैं, और 3000 से अधिक शीर्ष रैंक धारक हैं.  उन्होंने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस से कंप्यूटर साइंस में मास्टर डिग्री ली है और खुद दो बार गेट परीक्षा पास की है. अपने पोस्ट-ग्रेजुएशन के बाद एक संक्षिप्त कॉर्पोरेट कार्यकाल के बाद, उन्होंने अपने जुनून के लिए शिक्षण का पेशा चुना और गेट परीक्षा की तैयारी के लिए एक अग्रणी मंच, रौद्राएडुसर्विसेज की स्थापना की.

रविन्द्रबाबू रावुला, फाउंडर और चीफ एजुकेटर, रौद्रा एडुसर्विसेज ने कहा, “प्रौद्योगिकी ने हमारे सीखने के तरीके को बदल दिया है. इससे शिक्षा सुलभ और सस्ती हो गई है. आज कोई भी कंप्यूटर विज्ञान की मूल बातें सीख सकता है और अपनी कंपनियों को शुरू करने के लिए क्लाउड कंप्यूटिंग का उपयोग कर सकता है. एक एजुकेटर के रूप में, मैं अपने आप को एक ऐसे एनेबलर के रूप में देखता हूं, जो छात्रों को अपनी महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने में मदद करता है. अनएकेडमी का हिस्सा बनकर, मैं एक बड़े आंदोलन में शामिल हो सकता हूं और अपने सपनों को हासिल करने में हजारों लोगों की मदद कर सकता हूं.”

कंप्यूटर विज्ञान, मैकेनिकल, सिविल, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स और कम्युनिकेशन और केमिकल जैसी शाखाओं की तैयारी के लिए अनएकेडमी के पास गेट और ईएसई के करीब 10,600 पाठ्यक्रम हैं. मंच ने भारत की सबसे बड़ी प्रतिस्पर्धात्मक प्रतियोगिता “अनएकेडमी कॉम्बैट” भी शुरू की है, जहां गेट और ईएसई के इच्छुक छात्र हर दूसरे पखवाड़े में हजारों अन्य शिक्षार्थियों के साथ प्रतिस्पर्धा करते हैं.

अनएकेडमी के बारे में:

  • अनएकेडमी , 2015 में गौरव मुंजाल, रोमन सैनी और हेमेश सिंह द्वारा स्थापित एक शिक्षा प्रौद्योगिकी मंच है. इसे 2010 में गौरव मुंजाल द्वारा एक यूट्यूब चैनल के रूप में शुरू किया गया था. इसका मुख्यालय बेंगलुरू में है. ये भारत का एक ऐसा शिक्षण मंच है, जो लाखों शिक्षकों को एक साथ लाता है, जो गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की आवश्यकता है. 47000 से अधिक पंजीकृत शिक्षकों और 40 मिलियन शिक्षार्थियों के बढ़ते नेटवर्क के साथ, अनएकेडमी भारत के सीखने के तरीके को बदल रहा है. यह भारत के 5000 शहरों में 14 भारतीय भाषाओं में शिक्षा दे रहा है. अनएकेडमी ग्रुप में अनएकेडमी , प्रेपलैडर, मास्ट्री, कोडशेफ और ग्राफी ब्रांड्स शामिल हैं. कंपनी को टाइगर ग्लोबल, सॉफ्टबैंक विजन फंड 2, जनरल अटलांटिक, सिकोइया इंडिया, एसएआईएफ पार्टनर्स, नेक्सस वेंचर पार्टनर्स, स्टीडव्यू कैपिटल और ब्ल्यूम  वेंचर्स जैसे प्रमुख निवेशकों का समर्थन प्राप्त है.