टाटा एआईए ने 41,000 से ज़्यादा सलाहकारों और उनके परिवारों के लिए विस्तारित की कोविड बीमा सुरक्षा

मुंबई, 29 जून, 2021: टाटा एआईए लाइफ इन्श्युरन्स ने कोविड की दूसरी लहर के दौरान 41,000 से अधिक सलाहकारों और उनके परिवारों के लिए अपने कोविड कवच बीमा कवर का विस्तार किया है। यह महत्वपूर्ण कदम उठाने वाली जीवन बीमा क्षेत्र की पहली कंपनियों में अब टाटा एआईए लाइफ इन्श्युरन्स भी शामिल हो गई है।

पॉलिसी में सलाहकारों के साथ-साथ उनके पति या पत्नी और दो बच्चों (25 वर्ष की आयु तक) को बीमा सुरक्षा दी जाती है। कोविड-19 की वजह से अस्पताल में भर्ती होने पर 25,000 रूपए और  होम केयर पैकेज के लिए 10,000 रूपए प्रतिपूर्ति के रूप में दिए जाएंगे। साथ ही कंपनी  उन्हें टेलीमेडिसिन लाभ, स्वास्थ्य के बारे में जानकारी देने वाले लेख, डॉक्टरों से परामर्श और दवा और डायग्नोस्टिक बुकिंग पर 20% की छूट यह लाभ भी दे रही है, जिसके लिए टाटा एआईए ने प्रैक्टो के साथ साझेदारी की है। इसके अलावा, कंपनी 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी सलाहकारों के टीकाकरण का खर्च भी देगी।

कंपनी ने अपने ग्राहकों को व्यापक मार्गदर्शन और जागरूकता प्रदान करने के लिए भी कई उपाय किए हैं। कंपनी ने प्रैक्टो के साथ मिलकर अपने ग्राहकों को स्वास्थ्य विशेषज्ञों से डिजिटल तरीके से परामर्श पाने की सुविधा दी है, ईमेल और एसएमएस अभियानों और टीकाकरण की याद दिलाने के लिए कई गतिविधियों का भी आयोजन किया जा रहा है।

भारत के सबसे प्रतिष्ठित हार्ट सर्जन्स में से एक, एशियन हार्ट इंस्टिट्यूट के उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, पद्म भूषण डॉ. रमाकांत पांडा के साथ कोविड जागरूकता और सुरक्षा नियमों पर एक विशेष वेबिनार का आयोजन किया गया।

टाटा एआईए द्वारा चलायी जा रही #SelflessSelfie इस दिलचस्प गतिविधि में हर ग्राहक को टीकाकरण के बाद अपनी सेल्फी अपलोड करनी है, उस हर ग्राहक की ओर से टाटा एआईए लाइफ टाटा ट्रस्ट्स के वन अगेन्स्ट कोविड-19′ फंड में 25 रुपयों का योगदान देती है।

इस महीने में एआईए ग्रुप ने भारत में किए जा रहे सामुदायिक राहत प्रयासों के समर्थन में ताज पब्लिक वेलफेयर ट्रस्ट को 25 लाख यूएस डॉलर्स का योगदान दिया।

अपने कर्मचारियों के लिए टाटा एआईए लाइफ ने कई कार्यक्रम चलाए हैं।  कर्मचारियों और उनके परिवार को 2 लाख रुपयों की कोविड कवच बीमा सुरक्षा, कोविड के पहले और उसके बाद देखभाल के लिए आवश्यक सेवाएं, ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर्स सहित अन्य आपातकालीन सहायता, आरटी-पीसीआर, अन्य चिकित्सीय जांच सेवाएं, जिंजर होटल्स और भारत भर में अन्य 45 स्थानों पर आइज़ोलेशन सुविधाएं, फोर्टिस हॉस्पिटल्स की ओर से केयर@होम पैकेजेस, आपातकालीन स्थिति में वित्तीय सहायता, टीकाकरण के बारे में जागरूकता, नियमों के बारे में जानकारी, कर्मचारियों के साथ बातचीत, उनकी भावनिक और शारीरिक भलाई के लिए परामर्श सेवाएं ऐसे कई प्रयास कंपनी अपने कर्मचारियों के लिए कर रही है।

टाटा समूह की अन्य कंपनियों के सहयोग से, टाटा एआईए के कुल 8,384 कर्मचारियों में से 5,800 से ज़्यादा कर्मचारियों को पूरे भारत भर में आयोजित शिविरों में टीके की पहली खुराक दी गई। 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी कर्मचारियों को पहले ही टीके की एक खुराक दी जा चुकी है।

इन सभी उपायों के बारे में निर्णय और उन पर निगरानी का जिम्मा एक शीर्ष समिति पर सौंपा गया है जिसमें कंपनी के मुख्य वितरण अधिकारी, मानव संसाधन प्रमुख, संचालन प्रमुख और एक विशेष टास्क-फ़ोर्स भी शामिल हैं।

टाटा एआईए लाइफ इन्श्युरन्स के मुख्य वितरण अधिकारी श्री वेंकी अय्यर ने कहा, समाज के लिए प्रतिबद्ध संगठन के रूप में, हम अपने उपभोक्ताओं, वितरण भागीदारों और कर्मचारियों का समर्थन करने की अपनी जिम्मेदारी के प्रति सचेत हैं। हमारे सभी हितधारकों को भावनात्मक, शारीरिक और वित्तीय रूप से स्वस्थ रखने के लिए हम लगातार प्रयासशील हैं। आज पूरी दुनिया बहुत ही कठिन दौर से गुज़र रही है। हम अपनी सभी पहलों के माध्यम से टाटा और एआईए समूहों के सिद्धांतों का पालन करने के लिए सभी प्रयास कर रहे हैं।”

About Patrika Jagat