ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज लिमिटेड का आईपीओ 27 जुलाई, 2021 को खुलेगा

बुधवार, 21 जुलाई, 2021: ग्‍लेनमार्क लाइफ साइंसेज लिमिटेड (‘जीएलएस’ या ‘कंपनी’), जो क्रोनिक थिरैप्‍यूटिक क्षेत्रों में चुनिंदा हाई वैल्‍यू, नॉन-कॉमडिटाइज्‍ड एक्टिव फार्मास्‍यूटिल इंग्रेडिएंट्स (”एपीआई”) के प्रमुख विकासकर्ता एवं निर्माता है, ने 27 जुलाई, 2021 को अपना आईपीओ (आईपीओ”) खोलने की योजना बनायी है।

ऑफर का प्राइस बैंड `695 से `720 प्रति इक्विटी शेयर के बीच तय किया गया है। न्‍यूनतम 20 इक्विटी शेयर्स और उसके बाद इसके गुणकों में बोलियां लगायी जा सकती हैं।

ऑफर में ग्‍लेनमार्क लाइफ साइंसेज लिमिटेड के `2 अंकित मूल्‍य के इक्विटी शेयर्स (इक्विटी शेयर्स”) शामिल है जिसमें कुल `10,600 मिलियन के इक्विटी शेयर्स का फ्रेश इश्‍यू (”फ्रेश इश्यू”) और ग्‍लेनमार्क फार्मास्‍यूटिकल्‍स लिमिटेड (”प्रवर्तक” या प्रवर्तक विक्रेता शेयरधारक”) के 6,300,000 इक्विटी शेयर्स का ऑफर फॉर सेल है।

यह ऑफर बुक बिल्डिंग प्रक्रिया के जरिए और सिक्‍योरिटीज कॉन्‍ट्रैक्‍ट्स (रेगुलेशन) रूल्‍स, 1957, यथा संशोधित (”एससीआरआर”) सिक्‍योरिटीज एंड एक्‍सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (इश्‍यू ऑफ कैपिटल एंड डिस्‍क्‍लोजर रिक्‍वायरमेंट्स) रेग्‍युलेशंस 2018 के विनियमन 31, यथा संशोधित (”सेबी आईसीडीआर रेग्‍यूलेशंस”) के शर्तों के अनुरूप और सेबी आईसीडीआर रेग्‍यूलेशंस के विनियमन 6(1) के अनुसार उपलब्‍ध कराया जा रहा है जिसमें ऑफर का 50 प्रतिशत से अनधिक हिस्‍सा पात्र संस्‍थागत खरीदारों (”क्‍यूआईबी”) को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा (”क्‍यूआईबी”, और ऐसा हिस्‍सा, क्‍यूआईबी हिस्सा)। कंपनी और प्रवर्तक विक्रेता शेयरधारक, लीड मैनेजर्स के परामर्श से सेबी आईसीडीआर विनियमनों (एंकर निवेशक हिस्‍सा”) के अनुसार क्‍यूआईबी हिस्‍से का 60 प्रतिशत तक विवेकानुसार एंकर निवेशकों को आवंटित कर सकते हैं, जिसमें से एक-तिहाई हिस्‍सा केवल घरेलू म्‍यूचुअल फंड्स को आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा, बशर्ते घरेलू म्‍यूचुअल फंड्स से एंकर निवेशक आवंटन मूल्‍य पर या इससे अधिक पर वैध बोलियां प्राप्‍त हों। आगे, क्‍यूआईबी पोर्शन (एंकर निवेशक हिस्‍से को छोड़कर) का 5 प्रतिशत केवल म्‍यूचुअल फंड्स को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा और क्‍यूआईबी हिस्‍से का शेष म्‍यूचुअल फंड्स सहित सभी क्‍यूआईबी बोलीदाताओं को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा, बशर्ते वैध बोलियां ऑफर प्राइस या इससे अधिक पर प्राप्‍त हों। हालांकि, यदि म्‍यूचुअल फंड्स की ओर से कुल मांग क्‍यूआईबी पोर्शन के 5 प्रतिशत से कम रहती है, तो म्‍यूचुअल फंड पोर्शन में आवंटन के लिए उपलब्‍ध बाकी शेयर्स, क्‍यूआईबी को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध शेष क्‍यूआईबी हिस्‍से में जुड़ जायेगा।

आगे, सेबी आईसीडीआर विनियमनों के अनुसार, ऑफर का 15 प्रतिशत से अनधिक हिस्‍सा आनुपातिक आधार पर गैर-संस्‍थागत निवेशकों को और ऑफर का 35 प्रतिशत से अनधिक हिस्‍सा खुदरा व्‍यक्तिगत निवेशकों को आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा, बशर्ते ऑफर मूल्य पर या इससे अधिक पर वैध निविदाएं प्राप्त हों। एंकर निवेशकों को छोड़कर, सभी बोलीदाताओं को एप्लिकेशन सपोर्टेड बाय ब्लॉक्ड एमाउंट (‘‘एएसबीए’’) प्रक्रिया के जरिए ऑफर में भाग लेना होगा और इस हेतु, उन्हें अपने एएसबीए बैंक खातों की जानकारी देनी होगी जिसमें सेल्‍फ सर्टिफाइड सिंडिकेट बैंक्‍स द्वाराया यूपीआई विधि के तहत – जो उपयुक्‍त हो – निविदा राशि रोक दी जायेगी। एंकर निवेशकों को एएसबीए प्रक्रिया के जरिए ऑफर में भाग लेने की अनुमति नहीं है।

कंपनी ने प्रस्‍ताव दिया है कि यह फ्रेश इश्‍यू से होने वाली शुद्ध आय का उपयोग 1. 9 अक्‍टूबर, 2018 की तिथि के व्‍यावसायिक खरीदारी अनुबंध के अनुसार कंपनी में प्रमोटर के एपीआई बिजनेस के स्पिन-ऑफ के लिए प्रोमोटर के बकाया खरीद निमित्त के भुगतान; 2. पूंजीगत व्‍यय आवश्‍यकताओं की फंडिंग; और 3. सामान्‍य कॉर्पोरेट उद्देश्‍यों के लिए करेगी।

कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी लिमिटेड, बोफा सिक्‍योरिटीज इंडिया लिमिटेड और गोल्‍डमैन सैच्‍स (इंडिया) सिक्‍योरिटीज प्राइवेट लिमिटेड, ऑफर के ग्‍लोबल को-ऑर्डिनेटर्स एवं बुक रनिंग लीड मैनेजर्स हैं। डीएएम कैपिटल एडवाइजर्स लिमिटेड (पूर्व नाम आईडीएफसी सिक्‍योरिटीज लिमिटेड), बीओबी कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड और एसबीआई कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड, ऑफर के बुक रनिंग लीड मैनेजर्स हैं।

रेड हेरिंग प्रॉस्‍पेक्‍टस के जरिए उपलब्‍ध कराये जाने वाले इक्व्टिी शेयर्स बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध किये जाने के लिए प्रस्‍तावित हैं।

About Patrika Jagat