आईसीआईसीआई फाउंडेशन हिमालयी बेल्ट और आदिवासी क्षेत्रों के अस्पतालों को प्रदान करेगा 1800 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर

मुंबई- 15 जुलाई, 2021 आईसीआईसीआई समूह की सीएसआर शाखा आईसीआईसीआई फाउंडेशन फॉर इनक्लूसिव ग्रोथ (आईसीआईसीआई फाउंडेशन) ने आज घोषणा की कि उसने वर्ष 2021-22 में हिमालयी बेल्ट के दुर्गम इलाकों और दूरदराज के आदिवासी क्षेत्रों में उप-मंडल अस्पतालों को 1,800 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्रदान करने की योजना बनाई है। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्रदान करने का उद्देश्य इन क्षेत्रों में नागरिकों को मेडिकल इमर्जेंसी की स्थिति में तत्काल ऑक्सीजन सहायता उपलब्ध कराना है।

आईसीआईसीआई फाउंडेशन 17 राज्यों के लगभग 175 जिलों में 700 से अधिक उप-मंडल अस्पतालों को यह ऑक्सीजन कंसंट्रेटर निशुल्क प्रदान करेगा। इसी सिलसिले में 300 से अधिक ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का पहला बैच रवाना कर दिया गया है।

आईसीआईसीआई फाउंडेशन ने इन उच्च गुणवत्ता वाले ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की खरीद दो कंपनियों- बीपीएल मेडिकल टेक्नोलॉजीज और फिलिप्स इंडिया से की है। इन कंपनियों का देश भर में एक व्यापक सेवा नेटवर्क है, जो आवश्यकता पड़ने पर मशीनों के लिए त्वरित और कुशल रखरखाव सहायता सुनिश्चित करेगा। इसके अलावा, फाउंडेशन एक पावर बैक अप सिस्टम भी प्रदान कर रहा है ताकि बिजली के नहीं होने की स्थिति में भी कंसंट्रेटर्स मेडिकल-ग्रेड ऑक्सीजन को बिना किसी रुकावट के फिल्टर और उत्पादन कर सकें।

आईसीआईसीआई फाउंडेशन ने ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स को इंस्टाॅल करने और इनकी सर्विसिंग के बारे मंे एक विशेष कौशल प्रशिक्षण मॉड्यूल के सह-निर्माण के लिए बीपीएल मेडिकल टेक्नोलॉजीज के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर भी हस्ताक्षर किए हैं। यह मॉड्यूल आईसीआईसीआई फाउंडेशन की इकाई आईसीआईसीआई एकेडमी फॉर स्किल्स द्वारा पेश किए जा रहे पाठ्यक्रम का हिस्सा होगा। यह एकेडमी समाज के वंचित वर्ग के युवाओं को निशुल्क व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान करती है। यहां से प्रशिक्षण हासिल करने के बाद, सफल प्रशिक्षु ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स की सर्विसिंग के जरिये आजीविका कमा सकते हैं।

आईसीआईसीआई फाउंडेशन फॉर इनक्लूसिव ग्रोथ के प्रेसीडेंट श्री सौरभ सिंह ने कहा, ‘‘आईसीआईसीआई समूह के पास राष्ट्र निर्माण में योगदान देने और नागरिकों की भलाई के लिए निरंतर प्रयास करने की एक लंबी विरासत है। महामारी के प्रकोप के बाद से, आईसीआईसीआई समूह ने देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 551 से अधिक जिलों में राहत कार्य शुरू किया है। महामारी के खिलाफ अपनी लड़ाई में राष्ट्र का समर्थन करने के लिए समूह ने 200 करोड़ रुपए खर्च किए हैं। इस दौरान फाउंडेशन ने पीएम केयर्स फंड में समूह की ओर से योगदान दिया है और इसके साथ ही राज्य सरकारों के साथ-साथ स्थानीय अधिकारियों को वेंटिलेटर, सैनिटाइजर, मास्क और व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण जैसी सामग्री की आपूर्ति की है और देश के कई हिस्सों में चिकित्सा संबंधी बुनियादी ढांचे को बेहतर बनाने की दिशा में अपनी ओर से योगदान किया है। इन्हीं प्रयासों के तहत फाउंडेशन ने 17 ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित किए हैं, लगभग 100 वेंटिलेटर का योगदान दिया है और 30 एम्बुलेंस प्रदान की हैं। अब यह देश के हिमालयी बेल्ट और दूरदराज के आदिवासी क्षेत्रों में स्थित उप-मंडल अस्पतालों को 1800 उच्च गुणवत्ता वाले ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स प्रदान कर रहा है। इस पहल का उद्देश्य इन क्षेत्रों के छोटे शहरों के निवासियों के लिए महत्वपूर्ण आपातकालीन स्वास्थ्य सहायता को तुरंत सुलभ बनाना है।’’

उन्होंने आगे कहा, ‘‘हमें विश्वास है कि यह पहल विशेष रूप से हमारे देश के चुनौतीपूर्ण इलाकों और दूरदराज के इलाकों में महामारी के खिलाफ हमारी लड़ाई में महत्वपूर्ण योगदान देगी।’’

‘‘बीपीएल मेडिकल टेक्नोलॉजीज के साथ हमारी साझेदारी समाज के वंचित वर्ग के युवाओं को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स की सर्विसिंग के लिहाज से कुशल बनाने में मदद करेगी। हाल ही में कोविड-19 की भयंकर लहर के दौरान, देश भर में बड़ी संख्या में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स तैनात किए गए हैं, जिनका समय-समय पर और निरंतर रूप से रखरखाव करना आवश्यक होगा। इससे इन उपकरणों की सर्विसिंग के क्षेत्र में आजीविका के नए अवसर खुलेंगे। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की सर्विसिंग के लिए कस्टमाइज किया गया कौशल प्रशिक्षण मॉड्यूल रखरखाव के लिए इस अंतर को पाट देगा और वंचित युवाओं के लिए आजीविका प्रदान करेगा।’’

आईसीआईसीआई फाउंडेशन फॉर इनक्लूसिव ग्रोथ के बारे में

आईसीआईसीआई समूह की सीएसआर शाखा, आईसीआईसीआई फाउंडेशन फॉर इनक्लूसिव ग्रोथ (आईसीआईसीआई फाउंडेशन), शहरी और ग्रामीण भारत में कौशल विकास और सतत आजीविका, पर्यावरण संरक्षण, वित्तीय समावेशन, स्वास्थ्य देखभाल और शिक्षा के क्षेत्रों में जुटा हुआ है। अपनी तीन इकाइयों-  आईसीआईसीआई एकेडमी फॉर स्किल्स, आईसीआईसीआई रूरल लाइवलीहुड प्रोग्राम और आईसीआईसीआई रूरल सेल्फ एम्प्लॉयमेंट ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट्स के माध्यम से फाउंडेशन ने 5.80 लाख से अधिक लोगांे को स्थायी और दीर्घकालिक आजीविका कमाने में मदद करने के लिहाज से प्रशिक्षण दिया है।

About Patrika Jagat