Breaking News
Home / लाइफस्टाइल / टैलेंट शो में प्रदर्शन करने के लिए मंच पर उतरे दिव्यांग मॉडल

टैलेंट शो में प्रदर्शन करने के लिए मंच पर उतरे दिव्यांग मॉडल

नई दिल्ली 16 जुलाई 2019ः गैर-लाभकारी संगठन नारायण सेवा संस्थान ने दिव्यांग व्यक्तियों की सेवा करने की प्रेरक यात्रा में संस्थान का सहयोग करने वाले दानदाताओं के योगदान को सराहने के लिए ‘इंटरनेशनल अवाॅर्ड सेरमनी 2019’ का आयोजन किया। मशहूर बॉलीवुड अभिनेता जैकी श्रॉफ, टेलीविजन स्टार दिलीप जोशी और मोटिवनेशनल स्पीकर जया किशोरी, प्राची देवी, डॉ. संजय कृष्णन सलिल के साथ उत्तरी दिल्ली की उपायुक्त इरा सिंघल ने नारायण सेवा संस्थान के अध्यक्ष श्री प्रशांत अग्रवाल के साथ इस भव्य समारोह की शोभा बढ़ाई।


टैलेंट के परफाॅर्मेंस की शुरुआत ‘दिव्य हीरोज’ के मंत्रमुग्ध कर देने वाले शानदार नृत्य प्रदर्शन के साथ हुई, इसके बाद जन्म से अविकसित हाथों वाली दीया श्रीमाली ने स्वागत नृत्य किया। प्रोग्राम में उत्साह चरम पर पहुंच गया जब व्हीलर चेयर राउंड, फ्यूजन डांस परफॉर्मेंस, आर्टिफिशियल लिम्ब राउंड और लावनी डांस की बैक टू बैक रॉकिंग परफॉरमेंस देखने को मिली। रैंप वॉक करते हुए और स्टेज पर स्टंट करते हुए कलाकारों का आत्मविश्वास देखते बनता था।


नारायण सेवा संस्थान के अध्यक्ष श्री प्रशांत अग्रवाल ने कहा, ‘हम इन प्रतिभाओं को मंच पर देखकर बहुत खुश हैं जो जीवन में खुशियों की तरफ देखने के लिए सभी को प्रेरित करते हैं। हम इन बच्चों को जीवन के सर्वश्रेष्ठ अवसर और एक्सपोजर देने की पूरी कोशिश करते हैं। 30 सामूहिक विवाह कार्यक्रमों और दिव्यांग टैलेंट शो के 10 वें संस्करण के बाद, हम और अधिक प्रतिभाओं को लाने की योजना बना रहे हैं और पूरे भारत में शो की सुविधा लाने के लिए बड़ा मंच तैयार कर रहे हैं।’


प्रतिभाशाली दिव्यांगों को पुरस्कृत करते हुए, बॉलीवुड अभिनेता जैकी श्रॉफ ने कहा, ‘परफाॅर्मेंस जबरस्त थीं। इन बच्चों ने अपनी शारीरिक बाधाओं के बावजूद खुद पर तरस नहीं खाया और शानदार प्रदर्शन किया है। उन्होंने कैरेक्टर को जीया, बिना परेशानी के बहुत मजे-मजे में परफाॅर्मेंस दी। इन दिव्य नायकों से कोई कैसे प्रेरित नहीं हो सकता है? वे वास्तव में स्टार हैं।’

अपने समर्थन से दिव्यांगों के जीवन बदलने वाले सफर में सहभागी बनने वाले दुनिया भर के 100 से अधिक दानदाताओं को विभिन्न श्रेणियों में राष्ट्रीय सेवा मनीषी पुरस्कार, राष्ट्रीय सेवा दधीचि पुरस्कार, राष्ट्रीय सेवा भूषण पुरस्कार, राष्ट्रीय सेवा श्री पुरस्कार और राष्ट्रीय सेवा गौरव पुरस्कार दिए गए।
नारायण सेवा संस्थान – फैक्टशीटः
उदयपुर, राजस्थान में 17 भवनों वाले 2 अस्पताल, जहां कुल 1100 बेड हैं।
मरीजों और उनके परिवारों को मुफ्त सर्जरी, दवाइयां और भोजन उपलब्ध कराया जाता है।
125 डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ द्वारा 95 से अधिक दैनिक सर्जरी की जाती हैं।
मुफ्त में फिजियोथेरेपी, कैलिपर्स, ट्राइसिकल, व्हीलचेयर, बैसाखी, श्रवण यंत्र, ब्लाइंड स्टिक और मॉड्यूलर कृत्रिम अंग प्रदान किए जाते हैं।ऽ सहायक उपकरण और मदद के साथ हर साल 25,000 कैलिपर्स और लगभग 11,000 मॉड्यूलर कृत्रिम अंग का मुफ्त इंस्टालेशन नियमित रूप से किया जाता है।
अब तक, संगठन ने लगभग 7.95 लाख व्हीलचेयर और लगभग 2.59 लाख ट्राइसाइकिल दान किए हैं।ऽ प्रतिदिन 5,000 रोगियों और उनके परिचारकों को पोषण युक्त मुफ्त भोजन दिया जाता है।
2011 के बाद से 8,750 से अधिक दिव्यांगों के लिए कौशल विकास।ऽ सर्जरी के बाद 2,875 व्यक्तियों द्वारा मोबाइल रिपेयरिंग का काम शुरू किया गया।
संस्थान ने 2830 लोगों को कंप्यूटर और हार्डवेयर प्रशिक्षण दिया है।
दिव्यांगों की प्रतिभा को सामने लाने के लिए नियमित रूप से दिव्यांग फैशन शो का आयोजन किया जाता है।
नारायण सेवा संस्थान से उपचारित हुए दिव्यांग मॉडल द्वारा रैंप वॉक।

नारायण सेवा संस्थान के बारे में
नारायण सेवा संस्थान दुनिया भर के दिव्यांगों और अभावग्रस्त व्यक्तियों के लिए एक बड़ा आसरा है। पद्म श्री कैलाश ‘मानव’ अग्रवाल की ओर से 1985 में स्थापित, नारायण सेवा संस्थान एक धर्मार्थ संगठन है जो दिव्यांगों और वंचितों को शारीरिक, सामाजिक और आर्थिक रूप से सशक्त बनाकर उन्हें समाज की मुख्य धारा में लाने के लिए काम कर रहा है। लेक सिटी – उदयपुर के पास प्रकृति की गोद में, अरावली पर्वतमाला से घिरे बदी गांव में स्थित नारायण सेवा संस्थान जीवन के किसी भी स्तर पर खुद को किसी भी तरह से वंचित महसूस कर रहें शारीरिक रूप से अक्षम व्यक्तियों के लिए सभी सुविधाओं वाला एक स्मार्ट कैम्पस है। संस्थान भारत में अपनी 480 शाखाओं के साथ और विदेशों में 86 शाखाओं के साथ दिव्यांगों के लिए काम कर रहा है। हर रोज, उदयपुर रेलवे स्टेशन पर मरीजों और उनके परिवारों को लेने के लिए निशुल्क मुफ्त वाहन उपलब्ध कराया जाता है, आगे उन्हें गेस्ट हाउस में मुफ्त आवास और भोजन प्रदान किया जाता है।

नारायण सेवा संस्थान भारत, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, यूक्रेन, यूके और यूएसए तक के जन्मजात दिव्यांगों, पोलियो, सेरेब्रल पाल्सी और अन्य समस्याओं से पीड़ित शारीरिक रूप से कमजोर रोगियों के लिए आशा है। नारायण सेवा संस्थान ने पिछले 30 वर्षों में 3.7 लाख से अधिक रोगियों का ऑपरेशन किया है और मुफ्त में सर्वोत्तम चिकित्सा सेवाओं, दवाओं और प्रौद्योगिकी का लाभ देते हुए उन्हें पूर्ण सामाजिक-आर्थिक सहायता प्रदान की है। यह एक ऐसी जगह है, जहां कोई कैश काउंटर नहीं है, सभी सुविधाएं निशुल्क हैं। संस्थान में 125 डॉक्टरों और नर्सिंग स्टाफ की टीम के साथ 1100 बिस्तर वाले अस्पताल संचालित किए जा रहे हैं, यह टीम प्रतिदिन लगभग 95 रोगियों का ऑपरेशन करते हुए मानवता की सेवा कर रही है।

About y2ks

Check Also

पर्यावरण संरक्षण के लिए 7 जुलाई को होने वाली ‘रन फोर वन’ का पोस्टर विमोचन

जयपुर 2 जुलाई 2019 राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण (रालसा) की ओर से पर्यावरण संरक्षण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *