येस बैंक ने लाॅन्च किया ‘युवा पे

Edit-Rashmi Sharma

जयपुर 27 जून 2020  – येस बैंक ने संपर्क रहित भुगतान को आसान बनाते हुए यूडीएमए टेक्नोलॉजीज के साथ साझेदारी में स्मार्ट फोन और फीचर फोन उपयोगकर्ताओं के लिए एक अनूठा डिजिटल वाॅलेट ‘युवा पे‘ लाॅन्च करने का एलान किया है। कोविड- 19 लॉकडाउन के बाद अब चूंकि अनलाॅक का दौर चल रहा है, ऐसे में डिजिटल बैंकिंग सेवाओं की सुविधा का अनुभव करने के लिहाज से लोगों को सक्षम बनाने के लिए यह सहयोग किया गया है, जो येस बैंक के फास्ट-ट्रैक नवाचार प्रयासों के अनुरूप है। यह इनोवेशन न्यूनतम केवाईसी नियमों के तहत जारी डिजिटल वॉलेट है, जिसमें भारत बिल पे और यूनीफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) के माध्यम से बिल भुगतान शामिल हैं।

ऐप के माध्यम से नगरपालिका, घर और जल कर, बिजली, एलपीजी, डीटीएच, मोबाइल बिल, लाइसेंस शुल्क, विंडमिल और सोलर पार्क शुल्क, भवन निर्माण शुल्क और बिलबोर्ड जैसे उपयोगिता बिलों का भुगतान किया जा सकता है। साथ ही, इसके माध्यम से बीमा नवीनीकरण, फास्टैगचार्ज, स्कूल फीस और खुदरा दुकानों पर भुगतान और ईएमआई भुगतान भी किया जा सकता है। समाधान का पहला लाइव कार्यक्रम कर्नाटक राज्य ग्रामीण विकास और पंचायत राज विभाग द्वारा कार्यान्वित किया जाएगा। पहले चरण में 238 गांवों के साथ 158 ग्राम पंचायतों को कवर किया जाएगा। इसके बाद, दूसरे चरण में यह कार्यक्रम 29,000 गांवों में 12 मिलियन घरों को कवर करने वाली 6200 ग्राम पंचायतों में लागू किया जाएगा।

लॉन्चिंग के अवसर पर येस बैंक की चीफ आॅपरेटिंग आॅफिसर अनीता पाई ने कहा, “यह अनूठा प्रयास दरअसल येस बैंक की ओर से उठाया गया एक और कदम है, जो सभी प्रकार के कागजी लेनदेन को पेपरलेस डिजिटल लेनदेन में परिवर्तित करने के सरकार के डिजिटल इंडिया के दृष्टिकोण की दिशा में है। कार्यक्रम का उद्देश्य इलेक्ट्रॉनिक भुगतान सेवाओं तक निम्न आय समूह की व्यापक पहुंच को सक्षम करके उनके बीच डिजिटल और संपर्क रहित लेनदेन को बढ़ावा देना है।‘‘
यूडीएमए टेक्नोलॉजीज के सीईओ प्रशांत नाइक ने कहा, “हम लंबे समय तक चलने वाले व्यापारिक संबंध की परिकल्पना करते हैं। येस बैंक भारत के अग्रणी डिजिटल भुगतान सुविधा में से एक है और हम इस समाधान को पूरे देश में, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्र में लागू करना चाहते हैं, जहाँ इंटरनेट कनेक्शन आज भी एक समस्या है और जहां फीचर फोन अधिक संख्या में प्रचलित हंै। साथ में, हम अब भारत के सबसे मजबूत ऑफलाइन वॉलेट समाधान की पेशकश करते हैं जो न केवल भारतीय नागरिकों के लिए दुनिया के सर्वोत्तम भुगतान अनुभव को लाता है, बल्कि अंततः भारत में कैशलेस परिवर्तन करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।”
विशिष्ट सुविधा को सक्रिय करने के लिए, ग्राहकों को एक सरल प्रक्रिया का पालन करना होगा-
फीचर फोन उपयोगकर्ता

न्यूनतम या पूर्ण केवाईसी सत्यापन प्रक्रिया को पूरा करने के लिए निकटतम ‘युवा मित्र’ एसोसिएट से संपर्क करें। एक बार सत्यापन पूरा हो जाने के बाद, वाॅलेट सक्रिय हो जाता है और उपयोगकर्ता इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस सर्विसेज (आईवीआरएस) के माध्यम से अपनी सेवाओं का उपयोग करना शुरू कर सकते हैं, जिसमें सभी लेनदेन ओटीपी और टी-पिन आॅथेंटिकेशन के माध्यम से सुरक्षित रूप से पूरे किए जाते हैं।
स्मार्ट फोन उपयोगकर्ता

उपयोगकर्ता एंड्राॅयड प्ले स्टोर से ‘युवा पे’ मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड कर सकते हैं, इसके बाद न्यूनतम केवाईसी आवश्यकताओं को पूरा करें और फिर वे अपने वॉलेट में पैसे जोड़ सकते हैं। आरबीआई के दिशानिर्देशों के अनुसार, उपयोगकर्ता को वॉलेट एक्टिवेट होने के बाद 24 महीनों के भीतर बायोमेट्रिक आधारित केवाईसी प्रक्रिया को पूरा करना होगा। यदि इंटरनेट कनेक्शन उपलब्ध है, तो उपयोगकर्ता ऑनलाइन सेवाओं का उपयोग शुरू कर सकते हैं। इंटरनेट कनेक्शन न होने की स्थिति में भुगतान और संग्रह अनुरोध एन्क्रिप्टेड एसएमएस में परिवर्तित हो जाता है और लेनदेन ऑफलाइन मोड में पूरा हो जाता है।

एप्लिकेशन संपर्क रहित भुगतान सुनिश्चित करता है जो एक यूनिक एल्गोरिथ्म आधारित प्रोटोकॉल पर काम करता है। यह वास्तविक समय के आधार पर बैंक को सुरक्षित रूप से डेटा भेजता है, जिसके परिणामस्वरूप उपयोगकर्ता के लिए इंटरनेट पर निर्भर हुए बिना एक सहज लेनदेन संभव होता है। ‘युवा पे‘ का उपयोग फंड ट्रांसफर, अकाउंट बैलेंस चेक, रिचार्ज या टॉप अप, बिल भुगतान और रिवार्ड प्लेटफॉर्म के लिए बैंकिंग ऐप के रूप में भी किया जा सकता है और इस तरह इसकी उपयोगिता और बढ़ जाती है। यह संपर्क रहित भुगतान के साथ-साथ नजदीकी उपयोगकर्ताओं के बीच भुगतान की अनुमति भी देता है, और पर्याप्त सामाजिक दूरी मानदंडों को भी बनाए रखता है।

येस बैंक के बारे में
येस बैंक, भारत में निजी क्षेत्र का चैथा सबसे बड़ा बैंक एक उच्च गुणवत्ता वाला, ग्राहक केंद्रित और सेवा संचालित बैंक है। 2004 में शुरू होने के बाद से येस बैंक एक ‘पूर्ण सेवा वाणिज्यिक बैंक‘ में विकसित हुआ है, जो कॉर्पोरेट, एमएसएमई और खुदरा ग्राहकों के लिए उत्पादों, सेवाओं और टैक्नोलाॅजी से संचालित डिजिटल आॅफरिंग्स की एक पूरी श्रृंखला उपलब्ध कराता है।

येस बैंक अपने पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी येस सिक्योरिटीज और अपने म्युचुअल फंड कारोबार से संबंधित कंपनी येस एसेट मैनेजमेंट (इंडिया) लिमिटेड के माध्यम से अपने निवेश बैंकिंग, मर्चेंट बैंकिंग और ब्रोकरेज व्यवसायों को संचालित करता है। मुंबई में मुख्यालय वाले येस बैंक की भारत में सभी 28 राज्यों और 9 केंद्र शासित प्रदेशों में अखिल भारतीय मौजूदगी है, जिनमें गिफ्ट सिटी में एक आईबीयू और अबू धाबी में एक प्रतिनिधि कार्यालय भी शामिल है।