राजस्थान के माननीय राज्यपाल श्री कलराज मिश्र ने सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल कानपुर के कॉमफेस्ट का उद्घाटन किया

Editor-Rashmi Sharma

जयपुर, 14 अक्टूबर, 2020: राजस्थान के माननीय राज्यपाल श्री कलराज मिश्र ने सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल कानपुर के चार दिवसीय आयोजन कॉमफेस्ट का उद्घाटन किया। 14 अक्टूबर, 2020 से शुरू आयोजन 18 अक्टूबर, 2020 तक चलेगा।

चार दिनों के भव्य आयोजन में प्रतिभागियों के तकनीकी, रचनात्मक, साहित्यिक और प्रबंधन कौशल का परीक्षण होता है। कॉमफेस्ट में हर वर्ष राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्कूलों की भागीदारी के साथ विविध आयोजनों और कार्यक्रमों की पूरी शंृखला होती है। इस साल कोविड-19 महामारी के मददेनजर वर्चुअल आयोजन किया गया है।

राजस्थान के माननीय राज्यपाल श्री कलराज मिश्र ने अपनी उपस्थिति से उद्घाटन समारोह की गरिमा बढ़ाई। उन्होंने जयपुरिया कंप्यूटर क्लब के सदस्यों की इस एक अन्य उपलब्धि के लिए सराहना की और उन्हें अपने ज्ञान का मोती प्रदान किया। कार्यक्रम की शुरुआत कृष्ण वंदना के साथ हुई जिसे सुन सभी मंत्रमुग्ध हो गए।

जयपुरिया ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस के अध्यक्ष श्री शिशिर जयपुरिया भी आयोजन में भागीदारी की और प्रतिभागियों को हर काम में सर्वश्रेष्ठ पूर्णता देने को प्रोत्साहित किया। सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल कानपुर की प्रिंसिपल श्रीमती शिखा बनर्जी के प्रेरक शब्दों ने प्रतिभागियों को काफी प्रभावित किया। इसके बाद कॉमफेस्ट 2020 के अध्यक्ष ईशान गुप्ता ने अपनी बात रखी और जयपुरिया कम्प्युटर क्लब के सदस्य के रूप में सफर की जानकारी देते हुए भावुक हो गए। उन्होंने बताया कि श्री मनीष सेकसरिया किस तरह हमेशा से इस भव्य आयोजन के सच्चे आधार और प्रेरक बल रहे हैं। टीम की प्रशंसा की गंूज उनकी मधुर आवाज में सुनाई दी।

जेसीसी सदस्य आरुष रॉय ने कॉमफेस्ट की उत्सावर्द्धक यात्रा के बारे में बताया कि यह कैसे एक दिवसीय स्थानीय कार्यक्रम से बढ़ कर तीन दिन का राष्ट्रीय आयोजन और आखिरकार चार दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय विशाल आयोजन बन गया है जिसे बड़ी तादाद में लोग देखते हैं।

जयपुरिया कम्युटर क्लब ने इस अवसर पर मुख्य अतिथि को एक ई-सर्टिफिकेट से सम्मानित किया और बिहार के बक्सर में उनके नाम पर 101 पेड़ लगाए गए। यह प्रकृति के प्रति छात्रों की सजगता का प्रत्यक्ष प्रदर्शन है। दिन का समापन श्री साकेत जयपुरिया द्वारा धन्यवाद ज्ञापन के साथ हुआ। उन्होंने प्रतिभागियों को प्रोत्साहित किया कि उनके हर प्रयास में सर्वश्रेष्ठ पूर्णता लाएं।