ओपन ऑनलाइन कोर्सेज की पेशकश करने के लिए भारत से ईडीएक्स का पहला कॉर्पोरेट पार्टनर बना एसबीआई

Editor-Manish Mathur

जयपुर 29 अक्टूबर 2020: इस प्रतिस्पर्धी दुनिया में कैरियर-उन्मुख व्यक्तियों के कौशल सेट को विकसित करने के उद्देश्य से, देश का सबसे बड़ा ऋणदाता भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने विश्वसनीय वैश्विक गैर-लाभकारी शिक्षा मंच ईडीएक्स के साथ एक रणनीतिक साझेदारी की है. इस एसोसिएशन के हिस्से के रूप में, एसबीआई नवंबर 2020 से ईडीएक्स प्लेटफॉर्म पर अपने मैसिव ओपन ऑनलाइन कोर्सेज (एमओओसी) की पेशकश करेगा.

प्रारंभ में, बैंक तीन पाठ्यक्रमों की पेशकश करेगा – कार्यस्थल पर रचनात्मकता को उजागर करना, वित्तीय सेवाओं के लिए संबंध विपणन रणनीति और संघर्ष समाधान. इन पाठ्यक्रमों की अवधि चार से छह सप्ताह की होगी. एक पाठ्यक्रम पर प्रति सप्ताह दो से तीन घंटे का समय लगेगा. इच्छुक शिक्षार्थियों को आवेदन करने के लिए किसी विशिष्ट शैक्षणिक योग्यता की आवश्यकता नहीं है. इन पाठ्यक्रमों के लिए नामांकन अब खुला है.

ईडीएक्स के साथ बैंक का सहयोग शिक्षार्थियों को कक्षाओं से परे ज्ञान तक पहुंच के साथ सीखने की सुविधा प्रदान करना है.  इन पाठ्यक्रमों को बैंकरों के समृद्ध अनुभव और उत्कृष्ट शैक्षणिक साख के द्वारा डिजाइन किया गया है. दुनिया भर में कैरियर उन्मुख व्यक्तियों को उनके करियर में मूल्य जोड़ने के लिए इन पाठ्यक्रमों से लाभ मिल सकता है.

भारतीय स्टेट बैंक के चेयरमैन श्री दिनेश खारा ने कहा, “मुझे ईडीएक्स के साथ एसबीआई की साझेदारी की घोषणा करने में बहुत खुशी मिली है जो सबसे बड़े एमओओसीएस प्लेटफार्मों में से एक है. एमओओसी छात्रों और कामकाजी पेशेवरों के बीच तेजी से लोकप्रियता हासिल कर रहे हैं क्योंकि वे किसी भी समय, कहीं भी सीखने का अवसर प्रदान करते हैं. मुझे विश्वास है कि इस सहयोग से दुनिया भर में लाखों शिक्षार्थियों, कैरियर-उन्मुख व्यक्तियों और संगठनों को लाभ होगा.”

ईडीएक्स के सीईओ और एमआईटी में प्रोफेसर श्री अनंत अग्रवाल ने कहा: “एसबीआई अपने कार्यबल विकास पहलों के एक भाग के रूप में व्यवसाय के लिए ईडीएक्स का उपयोग कर रहा है, जो पहले क्रियांवयन से कर्मचारियों के लिए बहुत सफल रहा है. हम एक साथ अपने काम का विस्तार करने के लिए रोमांचित हैं और रणनीति, रचनात्मकता और विपणन में अपने पहले पाठ्यक्रमों के शुभारंभ के साथ भारत में हमारे पहले कॉर्पोरेट भागीदार के रूप में उनका स्वागत करते हैं, जो हर जगह पेशेवरों और संगठनों के लिए प्रासंगिक हैं.”