ग्‍लैंड फार्मा लिमिटेड का आईपीओ 09 नवंबर 2020 को खुलेगा

Editor-Ravi Mudgal

जयपुर 06 नवंबर 2020 ग्‍लैंड फार्मा लिमिटेड (”कंपनी”), जो वर्ष 2014 से 2019 तक राजस्‍व की दृष्टि से संयुक्‍त राज्‍य की सबसे तेजी से बढ़ रही जेनरिक इंजेक्‍टेबल्‍स-केंद्रित कंपनियों में से एक है (स्रोत: आईक्‍यूवीआईए रिपोर्ट), प्रत्‍येक 1 रु. के फेस वैल्‍यू वाले इक्विटी शेयर्स के आईपीओ (आरंभिक सार्वजनिक निर्गम) (”इक्विटी शेयर्स” और इस तरह का आईपीओ, ”ऑफर”) को 09 नवंबर, 2020 को खोलेगी। ऑफर का मूल्‍य दायरा (प्राइस बैंड) 1490 रु. से 1500 रु. प्रति इक्विटी शेयर के बीच तय किया गया है। यह कंपनी, संयुक्‍त राज्‍य, यूरोप, कनाडा, ऑस्‍ट्रेलिया, भारत और शेष विश्‍व के 60 से अधिक देशों (30 जून, 2020 के आंकड़ों पर आधारित) में प्राथमिक रूप से बिजनेस टू बिजनेस (”बी2बी”) के अंतर्गत अपने उत्‍पादों की बिक्री करती है।

इस आईपीओ में कुल 12,500 मिलियन के फ्रेश इश्‍यू (”फ्रेश इश्‍यू”) और 34,863,635 इक्विटी शेयर्स का ऑफर फॉर सेल शामिल है जिसमें फोसुन फार्मा इंडस्ट्रियल प्राइवेट लिमिटेड (”प्रवर्तक विक्रेता शेयरधारक”) के 19,368,686 इक्विटी शेयर्स और ग्‍लैंड सेल्‍सस बायो केमिकल्‍स प्राइवेट लिमिटेड के 10,047,435 इक्विटी शेयर्स, एम्‍पॉवर डिस्क्रिशनरी ट्रंस्‍ट के 3,573,014 इक्विटी शेयर्स और निलय डिस्क्रिशनरी ट्रस्‍ट के 1,874,500 इक्विटी शेयर्स सम्मिलित हैं(सामूहिक रूप से ”अन्‍य विक्रेता शेयरधारकों” और सामूहिक रूप से प्रवर्तक विक्रेता शेयरधारकों को ”विक्रेता शेयरधारक” के रूप में, और इस तरह के इक्विटी शेयर्स ”पेशकश किये गये इक्विटी शेयर्स” के रूप में उल्‍लेखित किया गया है)।

 न्‍यूनतम 10 इक्विटी शेयर्स और उसके बाद 10 इक्विटी शेयर्स के गुणकों में बोलियां लगायी जा सकती हैं।

यह ऑफर, सिक्योरिटीज कॉन्ट्रैक्ट्स (रेगुलेशन) रूल्स, 1957 के 19(2)(बी) की शर्तों, यथा संशोधित (“एससीआरआर“) – सेबी आईसीडीआर विनिय‍मनों के विनियम 31 के साथ पढ़ें और सेबी आईसीडीआर विनियमन के विनियम 31 के अनुसार बुक बिल्डिंग प्रक्रिया के जरिए उपलब्‍ध कराया जा रहा है, जिसमें ऑफर का न्यूनतम 50 प्रतिशत हिस्सा पात्र संस्थागत खरीदारों (‘‘क्यूआईबी’’) (‘‘क्यूआईबी हिस्सा’’) को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने के लिए उपलब्ध होगा, हालांकि हमारी कंपनी और विक्रेता शेयरधारक, बीआरएलएम के परामर्श से विवेकानुसार और सेबी आईसीडीआर विनियमन के अनुसार क्यूआईबी का 60 प्रतिशत हिस्सा एंकर निवेशकों (”एंकर निवेशक हिस्‍सा”) को आवंटित कर सकते हैं जिसमें से एक-तिहाई हिस्सा घरेलू म्युचुअल फंड्स के लिए आरक्षित होगा, बशर्ते घरेलू म्युचुअल फंड्स से एंकर निवेशक आवंटन मूल्य पर या इससे ऊपर की वैध बोलियां प्राप्त हों। एंकर निवेशक हिस्‍से में कम सब्‍सक्रिप्‍शन या अनावंटन की स्थिति में, बाकी इक्विटी शेयर्स नेट क्‍यूआईबी पोर्शन में शामिल हो जायेंगे।

आगे, नेट क्यूआईबी पोर्शन का 5 प्रतिशत हिस्सा केवल घरेलू म्युचुअल फंड्स को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने के लिए उपलब्ध होगा, और नेट क्यूआईबी का बाकी हिस्सा, म्युचुअल फंड्स सहित सभी क्यूआईबी बोलीदाताओं को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने के लिए उपलब्ध होगा, बशर्ते ऑफर मूल्य पर या इससे अधिक पर वैध बोलियां प्राप्त हों। हालांकि, यदि म्‍यूचुअल फंड्स से कुल मांग क्‍यूआईबी हिस्‍से के 5 प्रतिशत से कम रहती है, तो म्‍यूचुअल फंड पोर्शन में उपलब्‍ध बाकी के इक्विटी शेयर्स, शेष क्‍यूआईबी पोर्शन में शामिल हो जायेंगे, जिन्‍हें आनुपातिक आधार पर क्‍यूआईबी को आवंटित किया जायेगा। आगे, नेट ऑफर का 15 प्रतिशत से अनधिक हिस्‍सा आनुपातिक आधार पर गैर-संस्‍थागत निवेशकों को आवंटित किये जाने और नेट ऑफर का 35 प्रतिशत से अनधिक हिस्‍सा खुदरा व्‍यक्तिगत निवेशकों को सेबी आईसीडीआर विनियमनों के अनुसार आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा, बशर्ते ऑफर मूल्य पर या इससे अधिक पर वैध बोलियां प्राप्त हों। सभी संभावित बोलीदाताओं (एंकर निवेशकों को छोड़कर) को अनिवार्य रूप से एप्लिकेशन सपोर्टेड बाय ब्लॉक्ड एमाउंट (‘‘एएसबीए’’) प्रक्रिया के जरिए ऑफर में भाग लेना होगा और इस हेतु, उन्हें अपने-अपने एएसबीए खातों और यूपीआई आईडी (आरआईबी के मामले में), जो भी लागू हो, के बारे में जानकारी देनी होगी, जिनमें एससीएसबी द्वारा या यूपीआई विधि के अंतर्गत संबंधित बोली राशि अवरुद्ध कर दी जायेगी। एंकर निवेशकों को एएसबीए प्रक्रिया के जरिए ऑफर में भाग लेने की अनुमति नहीं है।

कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी लिमिटेड, सिटी ग्रुप ग्‍लोबल मार्केट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, हैटोंग सिक्‍योरिटीज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और नोमुरा फाइनेंशियल एडवायजरी एंड सिक्‍योरिटीज (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड, इस ऑफर के बुक रनिंग लीड मैनेजर्स हैं।