सेसमे स्ट्रीट का वैश्विक एडुटेनमेंट कंटेंट अब सेसमे वर्कशॉप इंडिया के यूट्यूब चैनल पर हिंदी और तेलुगु भाषाओं में उपलब्ध

Editor-Manish Mathur

जयपुर 20 नवंबर 2020 : अमेरिका में बच्चों के बेहद लोकप्रिय टेलीविज़न शो सेसमे स्ट्रीट का परिचालन करने वाली व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त गैर-लाभकारी मीडिया व शैक्षणिक संगठन सेसमे वर्कशॉप की भारतीय इकाई सेसमे वर्कशॉप -इंडिया, हिंदी और तेलुगु भाषा में नए यूट्यूब चैनल्स लॉन्च कर रही है। इन चैनलों पर सेसमे स्ट्रीट के ये बेहद लोकप्रिय व रंगीन मपेट्स भारत के बच्चों के लिए शैक्षणिक कंटेंट को हिंदी और तेलुगु में पेश करेंगे। आज की यह घोषणा 150 से अधिक देशों के बच्चों को समझदार, मज़बूत और दयालु बनाने के सेसमे स्ट्रीट के 50 साल के इतिहास को आगे बढ़ाती है।

प्रत्येक बच्चे को उसके जीवन के शुरुआती वर्षों में सीखने का समान अवसर देने के लिए प्रतिबद्ध सेसमे वर्कशॉप-इंडिया ऐसे समय में अपने नए यूट्यूब चैनल लॉन्च कर रही है जब कोविड-19 महामारी के कारण करोड़ों बच्चे स्कूलों से दूर हैं और ऐसे में शैक्षणिक मीडिया की आवश्यकता और बढ़ जाती है। इन दोनों चैनलों पर 3 से 8 वर्ष की आयु वाले बच्चों के लिए विविध प्रकार का प्रीमियम कंटेंट उपलब्ध होगा और यह भारतीय बच्चों व उनके परिवारों को दुनियाभर में बेहद लोकप्रिय मपेट चरित्र जैसे एल्मो, कुकी मॉन्स्टर, एबी कडैबी और कई अन्य से परिचित कराएगा।

सेसमे वर्कशॉप इंडिया की मैनेजिंग डायरेक्टर सोनाली खान ने कहा, ”पहले के मुकाबले अब छोटे बच्चों व परिवारों को घर पर ही ऐसे अच्छे कंटेंट की आवश्यकता है जो बच्चों को शुरुआती वर्षों में सीखने में मदद करे और इसके लिए सेसमे स्ट्रीट के मपेट्स अपने मनोरंजक और दिलचस्प अंदाज़ में मदद करने के लिए आ चुके हैं। सेसमे स्ट्रीट के मपेट्स दुनियाभर में अपने मनोरंजन और दिलचस्प अंदाज़ के लिए ही मशहूर हैं। बड़ी संख्या में बच्चों के स्कूलों से दूर रहने की इस स्थिति में हमारे नए यूट्यूब चैनल्स बच्चों तक उनके स्वस्थ विकास के लिए आवश्यक कंटेंट पहुंचाएंगे और इसके लिए उनके परिवार को कुछ भी खर्च नहीं करना पड़ेगा। इसके साथ ही वे इस कंटेंट को कभी भी देख सकेंगे।”

बच्चे और उनके परिवार कोविड-19 महामारी के दौरान घर से पढ़ाई करने संबंधी नई चुनौतियों का सामना कर रहे हैं जिसमें दूर से पढ़ाई करने से एडजस्ट करना, बच्चे स्क्रीन पर कितना समय बिता रहे हैं इसका ध्यान रखना और उनकी उम्र के अनुसार उपयुक्त शैक्षणिक कंटेंट ढूंढना शामिल है। कम संसाधनों वाले समुदायों में माता-पिता और बच्चों की देखभाल करने वालों के सामने उनके बच्चों के पास सीखने के कम अवसर होने की अनूठी चुनौतियां हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए इस विश्व बाल दिवस पर सेसमे वर्कशॉप इंडिया हिंदी और तेलुगु में अपना यूट्यूब कंटेंट पेश कर इस डिजिटल अंतर को पाटने की कोशिश कर रही है।

खान ने बतायाआज सेसमे वर्कशॉप इंडिया के यूट्यूब चैनल्स पर लॉन्च हो रहा अंतरराष्ट्रीय कंटेंट बच्चों की उत्सुकता, सीखने की चाह और स्वस्थ विकास को बढ़ावा देने के साथ ही पूरे परिवार के लिए भी बहुत मनोरंजक है। हम जानते हैं कि दुनिया भर के बच्चे सेसमे स्ट्रीट के मपेट्स से बहुत बेहतरीन ढंग से जुड़ाव महसूस करते हैं और हम एल्मो, कुकी मॉनस्टर व एबी कडैबी को तेलुगु और हिंदी में देशभर के परिवारों के लिए पेश कर बहुत रोमांचित महसूस कर रहे हैं।’’