एजिस ने भारत में खोला इंटरनेशनल डिज़ाइन सेंटर, भारत से ग्लोबल डिज़ाइन कार्यों की सेवाएं प्रदान करना इसका उद्देश्य

Editor-Rashmi Sharma 

जयपुर 26 फरवरी 2021 – एजिस ने ग्रुप सीईओ लाॅरेन्ट जर्मेन के भारत दौरे की घोषणा की है। एजिस ने भारत को सामरिक भोगौलिक क्षेत्र के रूप में पहचाना है और लाॅरेन्ट का दौरा भारत में एजिस की मजबूती को और बढ़ाने में मदद करेगा।

श्री लाॅरेन्ट जर्मेन, सीईओ, एजिस ग्रुप ने कहा, ‘‘मैं भारत के विकास की कहानी, खासतौर पर इन्फ्रा क्षेत्र में देश के विकास से बेहद प्रभावित हूं। आज हम गर्व से कह सकते हैं कि 25 साल पहले भारतीय बाज़ार में प्रवेश के बाद से आज तक हमने सड़कों से लेकर राजमार्गों तक अपनी आॅर्डर बुक्स का विविधीकरण किया है, इनमें अन्य क्षेत्र जैसे रेलवे, विमानन, शहरी इमारतें, जल और बंदरगाह तक सभी शामिल हैं। भारत हमारे लिए सामरिक भोगौलिक क्षेत्र है और हम यहां अपने विकास की यात्रा जारी रखेंगे तथा नई उंचाईयों तक पहुंचने का प्रयास करते रहेंगे। स्वास्थ्य सेवाओं, जल आपूर्ति, रेल, रोड, वायुमार्ग, जलमार्ग और शहरी बुनियादी सुविधाओं को विशेष महत्व दिया गया है। ये सभी पहलु इस बात की पुष्टि करते हैं कि इस देश में काम करना हमारे लिए कितना महत्वपूर्ण है।’’

एजिस ने गुरूग्राम, भारत में एक डिज़ाइन सेंटर खोलने की घोषणा की है। यह सेंटर ग्रुप के अन्तर्राष्ट्रीय कारोबार के लिए अपनी सेवाएं प्रदान करेगा। भारत में एजिस का डिज़ाइन सेंटर विश्वस्तरीय परियोजनाओं के लिए काम करेगा तथा भारत के बाहर स्थित सर्वश्रेष्ठ परियोजनाओं के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षण एवं कौशल विकास की सुविधाएं उपलब्ध कराएगा। पौलेंड स्थित एजिस के डिज़ाइन सेंटर के अलावा यह एशिया में कंपनी का पहला और दुनिया में दूसरा सेंटर है। यह भारत की क्षमता और तकनीकी कौशल में कंपनी के भरोसे की पुष्टि करता है।

लाॅरेन्ट जर्मेन, सीईओ, एजिस ग्रुप ने कहा, ‘‘भारत को लेकर मैं बेहद उत्साहित हूं। मैं इस नई पहल को लेकर बहुत सकारात्मक हूं, हम भारत को समूह के विश्वस्तरीय कारोबार का केन्द्र बनाना चाहते हैं। भारत हमारे लिए हमेशा से महत्वपूर्ण बाज़ार रहा है और देश में पूरी कई असंख्य परियोजनाएं इस बात का प्रमाण हैं।’’

श्री संदीप गुलाटी, एमडी, एजिस इंडिया ने कहा, ‘‘एजिस पिछले दो दशकों से भारत में मौजूद है और विभिन्न क्षेत्रों में कई परियोजनाओं को सफलतापूर्वक अंजाम दे चुका है। भारत में हमें अपार अवसर दिखाई देती हैं और हम समझते हैं कि बुुनियादी सुविधाओं का तीव्र विकास भारत के विकास की कहानी का अभिन्न हिस्सा हो सकता है। सक्षम कार्यबल और विश्वस्तरीय तकनीकी क्षमताओं के साथ हम भारत के विकास में योगदान देना चाहते हैं। हम सरकारों और क्लाइन्ट्स के सहयोग से काम करते हुए साझेदारी के नए तरीकों पर ज़ोर देते रहेंगे। हम भारत में कुछ ही कंपनियों में से एक हैं जिनका इतना विविध पोर्टफोलियो है और 8 मेट्रो, 3 हवाई अड्डो एवं 3 स्मार्टसिटीज़, कई एक्सपे्रसवे, हाईवेज, जल, बंदरगाह एवं शहरी क्षेत्रों में कई परियोजनाओं के साथ हम मजबूत स्थिति पर हैं। हमें स्वास्थ्यसेवा, ओद्यौगिक क्षेत्र एवं उर्जा जैसे नए क्षेत्रों में भी अपार अवसर दिखाई देते हैं। सरकार देश में बुनियादी सुविधाओं के विकास पर निरंतर ज़ोर दे रही है और अपने कारोबार की बात करें तो हमें गर्व है कि हम राष्ट्र निर्माण में योगदान दे रहे हैं। इसक अलावा, भारत में ग्लोबल डिज़ाइन सेंटर का लाॅन्च विश्वस्तरीय डिलीवरी की हमारी क्षमता को दर्शाता है। कुल मिलाकर, हम भारत में विकास को लेकर बेहद उत्साहित हैं और हमें खुशी है कि हमें समूह से कारोबार के लिए बहुत अच्छा समर्थन मिला है।’’

पिछले दो दशकों से ग्रुप की भारत में सशक्त मौजूदगी है और कंपनी कई हाई प्रोफाइल परियोजनाओं के साथ सक्रियता से जुड़ी हुई है। इनमें शामिल है- 8 मास रैपिड ट्रांज़िट सिस्टम (मेट्रो) और दिल्ली के आस-पास सेमी-हाई स्पीड रीजनल रेल ट्रांज़िट सिस्टम, 3 स्मार्ट सिटीज़ (चण्डीगढ़, भुवनेश्वर और अजमेर) का स्थायी विकास, शहरी रूपान्तरण के पुनरूत्थान के लिए अटल मिशन (Atal Mission for Rejuvenation of UrbanTransformation -AMRUT)और मध्यप्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सभी के लिए आवास; विशेष गगनचुम्बी संरचनाएं जैसे गुजरात में स्टैच्यु आॅफ युनिटी, मुंबई में छत्रपति शिवाजी मैमोरियल स्टैच्यु, राष्ट्रीय जलमार्ग और जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट; कई एक्सप्रेसवे, मुंबई की तटीय सड़कें, राष्ट्रीय राजमार्ग, राज्यों के राजमार्ग, विभिन्न भोगौलिक क्षेत्रों में 29 भारतीय राज्यों की साझेदारी में ग्रामीण सड़कें; 3 हवाई अड्डे (लखनऊ, त्रिची और पुणे), 250 बांधों के लिए बांध पुनर्वास और सुधार परियोजना जो भारत में अपनी तरह की सबसे बड़ी परियोजनाओं में से एक है और ऐसी कई प्रतिष्ठित परियोजनाएं।

About Patrika Jagat