वेदांता द्वारा डिजिटल इंडिया की महत्वपूर्ण पहल स्टार्ट अप इंडिया से जुड़कर डिजिटल कदम को मिला बढ़ावा

Editor – Rashmi Sharma 

जयपुर 16 फरवरी 2021  – वेदांता समूह की वैश्विक कॉर्पोरेट, नवाचार और उद्यम कार्यक्रम, नवीनतम पहल ‘वेदांता स्पार्क‘ को लाॅन्चिग के केवल तीन माह में दुनिया भर से 1190 से अधिक प्रविष्टियां प्राप्त हुई हैं। ‘वेदांता स्पार्क‘ 30 अक्टूबर, 2020 को शुरुआती-स्टेज, ग्रोथ स्टेज और वेंचर स्टेज डिजिटल टेक स्टार्ट-अप के साथ साझेदारी कर, तकनीकी-क्रांति के उद्देश्य से प्रारंभ किया गया था। इसके साथ ही परिचालन उत्कृष्टता, नवीन उत्पादो के विकास और सस्टेनेबिलिटी के सभी पहलुओं में रणनीतिक लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रौद्योगिकी क्षमताओं का निर्माण और विकास, सतत विकास और देश के आत्मनिर्भरता की यात्रा में योगदान सम्मिलित है।

कंपनी को ब्रिटेन, अमरीका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर सहित दुनिया भर के 19 देशों से त्वरित गति से प्रविष्टियाँ प्राप्त हुईं। कुल 1190 प्रविष्टियों में से, 882 से अधिक भारतीयों ने इस स्टार्ट-अप कार्यक्रम के लिए स्वयं को नामांकित किया है।

वेदांता स्पार्क कार्यक्रम के माध्यम से कंपनी का उद्देश्य विश्व स्तरीय प्रौद्योगिकी उपक्रमों को भारत के युवाओं की प्रौद्योगिकी प्रतिभा और उद्यमशीलता की महत्वाकांक्षा को सक्षम कर, नवाचार को उत्प्रेरित करने के लिए उद्यमिता की भूमिका को पुनः विकसित करना है।

समूह की इस अभिनव पहल के बारे जानकारी देते हुए, वेदांता स्पार्क के डिजिटल अल्केमिस्ट और एंकर आकाश हेब्बर ने कहा, ‘वेदांता स्पार्क‘ के माध्यम से, हमारा प्रयास वैश्विक स्टार्ट-अप पारिस्थितिकी तंत्र को सशक्त कर तकनीकी-क्रांति को प्रेरित करना है। इस रणनीतिक साझेदारी के माध्यम से नवोदित उच्च क्षमता वाले स्टार्टअप, प्रगतिशील और स्थायी समाधानों से वैश्विक बाजार में अत्यधिक मूल्य ला सकते हैं। वास्तव में स्टार्ट-अप्स के प्रति जबरदस्त रुचि को देखना उत्साहजनक है, और हम उद्योग के प्रदर्शन के लिए उन्हें प्रोत्साहित करने और बढ़ाने के दौरान उनके साथ साझेदारी के लिए उत्सुक हैं।‘

अटल इनोवेशन मिशन के निदेशक आर रामनान के अनुसार ‘वैश्विक ऊर्जा और संसाधन क्षेत्र के डिजिटल भविष्य में विश्व के अग्रणी बनने के लिए भारतीय बहुराष्ट्रीय कंपनियों को शुरू से ही प्रस्ताव पर नवाचार और संचालन परिवर्तन की गति और पैमाने में घरेलू और विदेशी दोनों ही तरह से संभावनाओं को तलाशने की आवश्यकता होगी। वेदांता स्पार्क में डिजिटल इंडिया और आत्मनिर्भर भारत के लिए पीएम के दृष्टिकोण को साकार करने के लिए उपरोक्त क्षेत्रों में भारत के स्टार्ट-अप क्षेत्र को गहराई से उत्प्रेरित करने की क्षमता है।‘

बीभ्रजीत हलदर, संस्थापक और सीईओ – सेफएआई,आईएनसी (यूएसए और ऑस्ट्रेलिया) ने कहा कि “हम वेदांता स्पार्क कार्यक्रम के बारे में बहुत उत्साहित हैं। खनन में स्थापित उद्योगो को देखना सुखद अनुभव है, जैसे वेदांता अपने व्यवसाय को बदलने के लिए स्टार्ट-अप्स के साथ सक्रिय रूप से संलग्न है। प्रूफ-ऑफ-कॉन्सेप्ट पाथवे के माध्यम से विकासशील प्रौद्योगिकी का व्यवसायीकरण पर ध्यान उत्कृष्ट है। वेदांता के साथ हम कार्य करना जारी रखेंगे क्योंकि वे रणनीतिक नवाचार के लिए इस साझेदारी कार्यक्रम को विकसित करते हैं।

डिटेक्ट टेक्नोलॉजीज (भारत और अमेरिका) के संस्थापक और सीईओ डैनियल राज के अनुसार “डिटेक्ट टेक्नोलॉजी में, हमारी दृष्टि नवीनतम प्रौद्योगिकियों के माध्यम से सुरक्षा, संचालन और संपत्ति की अखंडता में क्रांतिकारी बदलाव लाना है, जिससे हमारे ग्राहकों को विकास के नए क्षेत्रों को सामने लाने में मदद मिलेगी। त्वरित दक्षता विकास की सुविधा के लिए वेदांता स्पार्क और स्टार्ट-अप की शुरूआत के लिए महत्वपूर्ण अवसर है। विभिन्न क्षेत्रों में वेदांता की मौजुदगी हमारे अनुप्रयोगों के उपयोगकर्ताओं के साथ सहयोग करने का एक अनूठा अवसर प्रदान करती है और इसलिए पूरे औद्योगिक क्षेत्रों में इस रूप का निर्माण करती है। ”

वेदांता के साथ बातचीत के अगले स्तर के लिए 100 से अधिक स्टार्ट-अप्स को संक्षिप्त सूचि में शामिल किया गया है। 20 से अधिक ग्लोबल और नेशनल पार्टनर्स को जोडा गया है। वेदांता स्पार्क के प्रमुख राष्ट्रीय भागीदार स्टार्ट-अप इंडिया, एआईएम, अग्नि (इन्वेस्ट इंडिया) हैं, वहीं प्रमुख वैश्विक भागीदारों में कोर हब और वर्ल्ड स्टार्ट-अप शामिल हैं।

शीर्ष 20 स्टार्ट-अप को वेदांता कुशल विशेषज्ञों द्वारा गहन मूल्यांकन प्रक्रिया के बाद वेदांता की विभिन्न संस्थाओं और औद्योगिक ईकाइयों के साथ कार्य करने का अवसर प्रदान करेगा।

About Patrika Jagat