iihmr-university-conferred-with-11th-asia-education-summit-awards-2021-under-most-promising-university-for-healthcare-management-of-the-year
iihmr-university-conferred-with-11th-asia-education-summit-awards-2021-under-most-promising-university-for-healthcare-management-of-the-year

11वें एशिया एजुकेशन समिट अवार्ड 2021 में आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी ‘मोस्ट प्रामिसिंग यूनिवर्सिटी फाॅर हैल्थकेयर मैनेजमेंट आॅफ द ईयर’ अवार्ड से सम्मानित

Editor-Rashmi Sharma

जयपुर 02 अप्रैल 2021  – हैल्थकेयर के क्षेत्र में वैश्विक स्तर पर पहचाने जाने वाले आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी ने हैल्थकेयर मैनेजमेंट के क्षेत्र में सबसे तेजी से बढ़ती यूनिवर्सिटी की श्रेणी में 11वां एशिया एजुकेशन समिट अवार्ड प्राप्त किया है। यह अवार्ड यूनिवर्सिटी के डीन ट्रेनिंग डाॅ. शिव त्रिपाठी ने प्राप्त किया, जिन्होंने आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी का प्रतिनिधित्व किया था। एशिया एजुकेशन समिट फाॅर एजुकेशन एक प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय मंच है जो शिक्षा के क्षेत्र में नवाचार और रचनात्मक गतिविधियों के लिए समर्पित है। यहां उच्च नीति नियंता जमीनी स्तर पर काम करने वालों के साथ अपने विचार साझा करते हैं और शिक्षा के क्षेत्र में बदलाव के लिए मिल कर चर्चा करते हैं।

अवार्ड समारोह में विभिन्न मं़त्रालयों के गणमान्य अतिथि मौजूद थे। इनमें भारत सरकार के माननीय शिक्षा मंत्री श्री रमेश पोखरियाल, भारत सरकार के पूर्व शिक्षा मंत्री श्री मुरली मनोरहर जोशी, जी20 और जी7 में भारत के दूत माननीय श्री सुरेश प्रभु, जलशक्ति राज्य मं़त्री श्री रतनलाल कटारिया, शिक्षा राज्य मंत्री श्री संजय धोत्रे, सामाजिक  न्याय व अधिकारिता मंत्रालय के राज्यमंत्री माननीय श्री रामदास अठावले, सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योग राज्यमंत्री माननीय श्री प्रताप चंद्र सारंगी और माननीय संसद सदस्य श्रीमती सुनीता दुग्गल तथा फिल्म अभिनेत्री व पूर्व संसद सदस्य श्रीमती जयाप्रदा शामिल हैं।

इस अवसर पर डाॅ शिव त्रिपाठी ने कहा, ‘‘हम इस अवार्ड को हासिल करते हुए बहुत खुशी का अनुभव कर रहे हैं। यह अवार्ड आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी की 35 वर्ष की उत्कृष्टता का सच्चा प्रमाण है। यूनिवर्सिटी ने हमेशा हैल्थकेयर मैनेजमेंट में गहन शोध के क्षेत्र में काम किया है। हम एशिया एजुकेशन समिट अवार्ड्स 2021 की ज्यूरी को धन्यवाद देते हैं।’’
आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के प्रेसीडेंट डाॅ पी आर सोडानी ने कहा, ‘‘आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी  ने हैल्थ सेक्टर में उत्कृष्टता के लिए बहुत प्रयास किए हैं। यह अवार्ड आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी द्वारा अब तक किए हैल्थ सिस्टम और उच्च शिक्षा के क्षेत्र में किए गए उत्कृष्ट कार्यों की दिशा मंें एक और कदम है।’’

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी एक प्रतिष्ठित हैल्थेकयर संस्थान है, जिसने अकादमिक, ट्रेनिंग और रिसर्च के क्षेत्र में अपनी उत्कृष्टता साबित की है। आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी हैल्थ सेक्टर में मैनेजमेंट रिसर्च, पोस्टग्रेजुएट एजुकेशन और ट्रेनिंग की विशिष्ट रिसर्च यूनिवर्सिटी है। यह यूनिवर्सिटी हैल्थ सेक्टर मंे प्रभावी नीतियो, रणनीतियों तथा नवाचारों के लिए नई जानकारी व तकनीक विकसित करने के लिए काम कर रही है।

आईआईएचएमआर विश्वविद्यालय के बारे में
आईआईएचएमआर विश्वविद्यालय का उद्देश्य विश्वविद्यालय का उद्देश्य स्वास्थ्य से संबंधित महत्वपूर्ण क्षेत्रों में प्रभावी नीतियों और रणनीतियों को विकसित करने के लिए दस्तावेज और इनपुट्स प्रदान करने के लिए नए ज्ञान और टैक्नोलाॅजी को विकसित करना है। पिछले साढ़े तीन दशकों से विश्वविद्यालय सार्वजनिक स्वास्थ्य, स्वास्थ्य और अस्पताल प्रबंधन, फार्मास्युटिकल मैनेजमेंट, हैल्थ इकोनाॅमिक्स और फाइनेंस, पाॅपुलेशन और रीप्रोडक्टिव हैल्थ, रूरल मैनेजमेंट, इंस्टीट्यूशनल नेटवर्किंग एंड केपेसिटी बिल्डिंग जैसे मुख्य क्षेत्रों में अनुसंधान, शिक्षा और क्षमता निर्माण में जुटा हुआ है। विश्वविद्यालय के एक्जीक्यूटिव एजुकेशन डिवीजन को उच्च गुणवत्ता के आवश्यकता-आधारित ओपन एनरोलमेंट मैनेजमेंट डेवलपमेंट प्रोग्राम्स (एमडीपी) और कस्टमाइज्ड ट्रेनिंग प्रोग्राम्स (सीटीपी) डिजाइन करने और वितरित करने में तीन दशकों से अधिक का अनुभव है।

इस डिवीजन ने प्रमुख बहुराष्ट्रीय निगमों, स्वास्थ्य संगठनों, अंतरराष्ट्रीय गैर-सरकारी एजेंसियों और डब्ल्यूएचओ, यूएनडीपी और यूनिसेफ जैसी अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों के लिए ट्रेनिंग और डेवलपमेंट संबंधी  आवश्यकताओं को पूरा किया है। विश्वविद्यालय अपनी एक्जीक्यूटिव एजुकेशन के साथ एक संवेदनशील, जिम्मेदार और लचीले तरीके से एक्जीक्यूटिव डेवलपमेंट की जरूरतों को पूरा करने के लिए नवीन आवश्यकता आधारित कार्यक्रमों को डिजाइन और विकसित करने में संलग्न है।

विश्वविद्यालय ने प्रमुख विश्वविद्यालयों और संस्थानों के साथ सहयोग किया है, जिनमें जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी, ब्लूमबर्ग स्कूल आॅफ पब्लिक हैल्थ, कर्टिन यूनिवर्सिटी, पर्थ, ऑस्ट्रेलिया, चेस्टर यूनिवर्सिटी, यूके, अमेरिकन सोसायटी फाॅर क्वालिटी, झेपीगो और एसईएआरसीएच शामिल हैं।