टाटा हेल्थ ने शीघ्र डायग्सिस के चुनाव में लोगों की मदद करने के लिए राष्ट्रव्यापी अभियान #SochMatPoochLeचलाया

मुंबई, 25 अगस्‍त, 2021: टाटा हेल्‍थ ने अपने सबसे नये टीवीसी और डिजिटल फिल्‍म #SochMatPoochLe में लोगों को उनकी स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को लेकर अपने मन में संदेह पालने और बार-बार उसी बारे में सोचने की आदत को छोड़कर उन्‍हें उन समस्‍याओं का समय से चिकित्‍सकीय निदान तलाशने के लिए प्रोत्‍साहित किया गया है।

टीवीसी को आज पूरे भारत में हिंदी भाषा में रिलीज किया गया है और इसकी डिजिटल फिल्‍म को तीन अन्य भाषाओं, यानी कन्नड़, तेलुगु और तमिल  रिलीज़ किया गया है।

#SochMatpoochLe अभियान में  इस बात पर जोर दिया गया है कि किसी को भी किसी भी लक्षण का अनुभव होने पर हमेशा डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए, नकि स्वयं का निदान करके अपने स्वास्थ्य को जोखिम में डालना चाहिए।लोगों को खुद के लिए स्‍वास्‍थ्‍य से जुड़ी किसी मुसीबत को मोल लेने से पहले समय से चिकित्सा सलाह लेनी चाहिए।फिल्‍म में मज़ा किये तरीके और हल्के-फुल्के ढंग से चार सामान्य स्वास्थ्य समस्‍याओं- सीने में दर्द, सिरदर्द, पेट दर्द या पीठ दर्द के बारे में बात की गयी है जो सामान्‍य से लेकर गंभीर भी हो सकती है। इसमें स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं को दूर करने के लिए अयोग्य सलाह, घरेलू उपचार, आत्म-निदान आदि पर भरोसा करने के दुष्परिणामों को  दिखाया गया है।

फिल्म में घबराहट और भ्रम को चित्रित किया गया है जिससे अक्सर सटीक निदान में देरी होती है और इससे गंभीर स्वास्थ्य परिणाम पैदा हो सकते हैं। इसमें दिखाया गया है कि मनुष्‍य का स्‍वभाव है कि- ‘यह दूसरों  के साथ हो सकता है, लेकिन मुझे नहीं’ और इस  प्रकार, कई बार कुछ खतरनाक लक्षणों को नजरंदाज करके अपने स्‍वास्‍थ्‍य के लिए संकट पैदा कर सकता है।

नए अभियान के बारे में बोलते हुए, टाटा हेल्‍थ के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी, मंज़ूर अमीन ने कहा, कोविड-19

महामारी ने हमें निवारकऔ रसक्रियता पूर्ण चिकित्सा देखभाल के महत्व को दिखा दिया है । टाटा हेल्थ,प्राथमिक स्वास्थ्य से वाको लोगों तक आसानी से सुलभ कराने की  एक  कोशिश है। हमारा नवीनतम अभियान #SochMatPoochLe चिकित्सा सलाह लेने के महत्व पर जोर देता हैऔर लोगों से अपील करता है कि जब भी उन्‍हें स्‍वास्‍थ्‍य  संबंधी किसी समस्‍या का पता चले, कोई लक्षण दिखे, तो उसके बारे में वो खुद से अंदाज लगाने के बजाये चिकित्‍सकीय सलाह लें और अपने स्‍वास्‍थ्‍य के लिए जोखिम न पैदा होने दें। प्रौद्योगिकीऔरचिकित्साविज्ञानमेंउपलब्‍ध सर्वश्रेष्ठसाधनों काउपयोगकरतेहुए, टाटा हेल्थ कम समय में भारत के सबसे भरोसे मंद स्वास्थ्य ऐप मेंसे एक बन गया है।हम अपने दृष्टिकोण की दिशा में डॉक्टरों की एक टीम के साथ लगातार काम कर रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि व्यक्तिगत स्पर्श के साथ निवारक स्वास्थ्य सेवा का महत्व लोगों तक पहुंचे।हमें उम्मीद है कि यहअभियान लोगों को समय पर चिकित्सा सहायता लेने के लिए प्रोत्साहित करेगा।‘’

 

यह फिल्म मै वरिक एंड  मंक द्वारा बनाई गई है; टीवीसी पर टिप्पणी करते हुए, मैवरिक एंड  मंक कम्‍यूनिकेशंस के चीफ क्रिएटिव एंड फाउंडर, भावेश दोशी ने कहा, इस अभियान का उद्देश्य लोगों को उनके ओवर थिंकिंग मोड से बाहर लाना है।यहां अंतर्दृष्टि यह है कि ज्यादातर समय, हम सोच-विचार में खोए रहते हैं। और यह स्थिति  खास करतब देखने को मिलती है जब हमें किसी तरह का कोई लक्षण महसूस होता है।हम अच्‍छी-बुरी विभिन्न संभावनाओं के बारे में  सोचना शुरू कर देते हैं। इससे हमारे मन में बहस शुरू हो जाती है जो बिना किसी वास्तविक निदान के अंतहीन हो सकता है।#SochMatPoochLe एक अनूठा, हल्का-फुल्का अभियान है जो लोगों को उनके‘ सोचमोड से बाहर लाने का प्रयास करता है और उन्हें सही निदान के लिए ऐप पर परामर्श करने के लिए प्रोत्साहित करता है।”

 

लिंक्‍स:

 

About Patrika Jagat