देश में रक्त क्रांति लाने के लिए स्वास्थ्य मंत्री का मिला सपोर्ट स्वास्थ्य मंत्री और मंत्रालय अधिकारियों ने बैठक में हर संभव आवश्यकता को पूरा करने का दिया आश्वासन।

Editor- Manish Mathur

जयपुर 26 अगस्त । जयपुर से शुरू हुआ रक्तदान का सिलसिला दुनिया के कई कोनों में पहुंच चुका है और अब 17 सितंबर को दुनिया का सबसे बड़ा रक्तदान कैंपेन होगा। इसको लेकर भारत के स्वास्थ्स मंत्री मनसुख मंडाविया व स्वास्थ्स राज्य मंत्री डॉ. भारती प्रवीण पवार, स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण और स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के साथ अखिल भारतीय तेरापंथ युवक परिषद की उच्च स्तरीय बैठक हुई। बैठक में ब्लड डोनेशन कैंपेन के बिंदुओं पर चर्चा करने के बाद निर्णय लिया, कि भारत सरकार अभियान को सपोर्ट करेगी। साथ ही हर संभव आवश्यकता को पूरा करने के लिए सरकार ने आश्वासन दिया।
जन-जाति मंत्री ने किया बैनर का लोकार्पण:
जन-जाति मंत्री अर्जुन मुंडा ने बैनर का लोकार्पण किया और ब्लड डोनेट करने की अपील की। बैठक में हितेश भांडिया, सौरव पटावरी, राष्ट्रीय महामंत्री पवन मांडोत ने हिस्स लिया। दोनों बैठकों में परिषद का अच्छा संवाद हुआ और संकल्प लिया गया, कि 17 सितंबर को रक्त क्रांति लाई जाएगी। मंत्रालय के लोगों ने संवाद में ऐसी ड्राइव के बारे में उत्सुकता के साथ जानकारी ली और उसको सराहा। परिषद ने बताया, दुनिया भर में 2000 से ज्यादा कैंप लगेंगे, जो वर्ल्ड में सबसे बड़ी ब्लड डोनेशन ड्राइव होगी। इस दौरान 2 लाख यूनिट ब्लड एकत्रित करने का लक्ष्य है।
गौरतलब है, कि ड्राइव को देश की राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, पूर्व उपराष्ट्रपति, स्वास्थ्य मंत्रालय, बॉलीवुड सेलिब्रिटी के साथ वर्ल्ड क्लास स्पोर्ट्स पर्संस का सहयोग है और उन्होंने सराहना की है।

About Patrika Jagat