मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को धन्यवाद देने पहुंचेंगे तीस हजार लोग

Editor- Manish Mathur

जयपुर, 30अगस्त2022। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा खानाबदोश व कच्ची बस्ती में रहने वाले लोगों के हित में की गई घोषणाओं से प्रभावित होकर घुमंतू,अर्ध घुमंतु व विमुक्त जाति के हजारों लोग 31 अगस्त को महामुक्ति दिवस पर राजधानी जयपुर पहुंचकर मुख्यमंत्री को धन्यवाद देंगे। घुमंतु अर्ध घुमंतु व विमुक्त जाति परिषद के प्रदेश अध्यक्ष रतननाथ कालबेलिया ने सोमवार को हुए प्रेसवार्ता में पत्रकारों को बताया कि परिषद हर वर्ष घुमंतू अर्ध घुमंतु व विमुक्त जाति महामुक्ति दिवस मनाता आ रहा है लेकिन इस बार पहली बार इतनी बड़ी संख्या में अपनी पारंपरिक वेशभूषा में घुमंतु, अर्ध घुमंतु, विमुक्त जाति एवं कच्ची बस्ती में रहने वाली गरीब जनता एक स्थान पर एकत्रित होकर सरकार की नीतियों का समर्थन करते हुए मुख्यमंत्री को धन्यवाद ज्ञापित करेंगे। इस कार्यक्रम में घुमंतु, अर्ध घुमंतु व विमुक्त जाति वर्ग से संबंधित पचास से अधिक जातियों के पंच पटेल और लगभग तीस हजार लोग शामिल हो रहे हैं। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, अध्यक्षता प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा और विशिष्ट अतिथि खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास होंगे। रतननाथ ने बताया कि 31 अगस्त को मनाए जा रहे घुमंतु, अर्ध घुमंतु व विमुक्त जाति के महामुक्ति दिवस पर प्रदेशभर से घुमंतु, अर्ध घुमंतु व विमुक्त जाति और कच्ची बस्ती के लोग सिविल लाइन स्थित बाल निवास मैरिज गार्डन में एकत्रित होंगे। घुमंतु, अर्ध घुमंतु व विमुक्त जाति के राष्ट्रीय संत और घुमंतु अर्ध घुमंतु व विमुक्त जाति परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष जगदीश महाराज ने बताया कि जयपुर मेट्रो के मानसरोवर स्टेशन स्थित रावण मंडी कच्ची बस्ती में विगत दिनों मुख्यमंत्री स्वयं पहुंचे थे, उस समय परिषद के प्रदेश अध्यक्ष द्वारा कार्यक्रम की जानकारी उन्हें दी गई थी तब उन्होंने अपनी पूरी टीम के साथ आने का वादा किया था और कहा था कि राजस्थान में रहने वाली घुमंतु अर्ध घुमंतु व विमुक्त जातियों एवं कच्ची बस्तियों में रहने वाले लोगों के साथ किसी प्रकार का अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। यह संदेश राजस्थान भर के कोने–कोने में रहने वाली घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति के लोग एवं कच्ची बस्ती के लोगों के बीच पहुंचा। यही नहीं हाल ही में सरकारी भूमि पर नौ वर्ष से बसी कच्ची बस्तियों को पट्टे देने के मुख्यमंत्री की घोषणा के चलते प्रदेशभर में इस वर्ग के लोगों में आशा एवं खुशी की लहर दौड़ रही है। इसके चलते प्रदेशभर से अपनी पारंपरिक वेशभूषा में घुमंतु अर्ध घुमंतु व विमुक्त जाति वर्ग के लोग नाचते गाते मुख्यमंत्री से मिलने पहुंचेंगे।

About Patrika Jagat