टाटा पावर की वित्त वर्ष 2021 तक 700 ईवी चार्जिंग स्टेशन्स बनाने की योजना

 Edit-Rashmi Sharma

जयपुर 29 मई 2020 भारत की सबसे बड़ी एकीकृत कंपनी और  शाश्वत ऊर्जा क्षेत्र की अग्रणी टाटा पावर ने देश में तेजी से बढ़ रहे इलेक्ट्रिक गाड़ियों के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाने के लिए चार्जिंग की बुनियादी सुविधाओं के राष्ट्रीय नेटवर्क के विस्तार की महत्त्वाकांक्षी योजनाएं बनायीं हैं।

 लंबे समय से बिक्री में हो रही गिरावट से बाहर आते हुए भारतीय ऑटोमोटिव क्षेत्र में इलेक्ट्रिक गाड़ियों के लिए मांग आईसी (जीवाश्म ईंधन पर चलने वाले इंटरनल कम्बशन वेहिकल्स) की मांग से भी ज्यादा होने की संभावना है। 2019-20 में भारत में इलेक्ट्रिक गाड़ियों की बिक्री (1.5 लाख) 2018-19 से 20% ज्यादा (1.35 लाख) रही।  वर्तमान वित्त वर्ष में टाटा पावर ईवी उद्यम के साथ मिलकर भारत के पर्यावरणानुकूल गतिशीलता की ओर बढ़ते कदमों को सक्षम कर रही है। इसमें सभी क्षेत्रों की गाड़ियों, दो पहिया और चार पहिया गाड़ियां शामिल हैं।

 भारत में इलेक्ट्रिक गाड़ियों का उपयोग बड़े पैमाने पर किए जाने की प्रक्रिया में सहयोग के लिए टाटा पावर लक्षणीय निवेश के साथ अपने स्मार्ट ईवी चार्जिंग पॉइंट्स के नेटवर्क को पूरे देश भर में फैलाने के लिए प्रयास कर रही है।  फ़िलहाल टाटा पावर के करीबन 170 स्मार्ट ईवी चार्जिंग पॉइंट्स हैं और वर्तमान वित्त वर्ष के आखिर तक इन्हें 700 से ज्यादा बढ़ाने की योजना पर टाटा पावर ईज़ेड चार्जब्रांड के तहत काम किया जा रहा है।

 टाटा पावर के सीईओ और एमडी श्री. प्रवीर सिन्हा ने बताया, भारतीय ऑटोमोटिव क्षेत्र में काफी गिरावट के बावजूद हमारा विश्वास कायम है कि देश में इस उद्यम का भविष्य उज्वल होगा।  हम मानते हैं कि, शुद्ध, पर्यवरणानुकूल गाड़ियों का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल करना बहुत जरुरी है।  उचित नीति संरचना, पर्यावरणानुकूल परिवहन सुविधाओं के लिए देश में बढ़ती हुई मांग और इलेक्ट्रिक गाड़ियों पर किए जाने वाले खर्च में लगातार हो रही कटौती यह सभी लक्षण भारत के भविष्य की ओर बढ़ते हुए कदमों की दिशा दर्शाते हैं।  चार्जिंग की बुनियादी सुविधाओं का नेटवर्क देश भर में फैलाया जाए इसलिए हम पिछले दो सालों से निवेश कर रहे हैं और वर्तमान वित्त वर्ष में इस विस्तार को जारी रखा जाएगा।”    

 टाटा पावर यह टाटा यूनिवर्स का भी हिस्सा है (टाटा समूह की अन्य कंपनियों के साथ), भविष्य में परिवहन क्षेत्र की मांगों को पूरा करने के लिए संपूर्ण ई-मोबिलिटी इकोसिस्टम के रूप में इसका विकास किया गया है, यह पर्यावरणानुकूल सुविधाओं पर आधारित है।

 टाटा पावर ईज़ेड चार्ज नेटवर्क में इसके पहले ही 170 शीघ्र और स्मार्ट चार्जिंग पॉइंट्स बनाए गए हैं।  दिल्ली, मुंबई, बंगलौर, पुणे और हैदराबाद इन महानगरों सहित देश भर के 20 से ज्यादा शहरों में विभिन्न प्रकार के इस्तेमाल के वातावरणों में यह स्मार्ट चार्जिंग पॉइंट्स हैं।  वर्तमान वित्त वर्ष के आखिर तक इस नेटवर्क को और ज्यादा शहरों में फैलाकर उन शहरों को भी इलेक्ट्रिक गाड़ियों के लिए तैयार करने की टाटा पावर की योजना है। होम चार्जिंग के लिए बुनियादी सुविधाएं बनाना, मेट्रो स्टेशंस, शॉपिंग मॉल्स, थिएटर्स और हाइवेज् पर सार्वजानिक चार्जिंग लोकेशंस बनाकर नेटवर्क के विस्तार की भी टाटा पावर की योजना है। देश भर में ईवी चार्जिंग स्टेशन्स बनाने के लिए यह कंपनी मेट्रो रेल और नगर निगमों के साथ भी बातचीत कर रही है।  टाटा समूह के क्रोमा, वेस्टसाइड, टाइटन वॉच शोरूम्स और इंडियन होटल्स इन आउटलेट्स में भी टाटा पावर अपनी ईवी चार्जिंग बुनियादी सुविधाओं का विस्तार कर रही है। टाटा पावर ने ईवी चार्जिंग के लिए वैश्विक स्तर का प्लेटफार्म विकसित किया है, इसमें कॉर्पोरेट्स, फ्लीट्स और वैयक्तिक यूजर्स के लिए विभिन्न सुविधाएं शामिल हैं।  इस प्लेटफार्म पर आधारित मोबाईल ऐप के इस्तेमाल से ग्राहक चार्जिंग स्टेशन्स कहा हैं वो जान सकते हैं, अपनी गाड़ियां चार्ज कर सकते हैं और चार्जिंग का भुगतान भी इस ऐप के जरिए कर सकते हैं।  इसके अलावा ऐप पर ग्राहकों के लिए अलग-अलग जानकारी और विश्लेषण भी उपलब्ध है।

 पिछले दो सालों में टाटा पावर ने हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड, इंडियन ऑइल कारपोरेशन लिमिटेड और इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड के ईंधन आउटलेट्स में व्यावसायिक ईवी चार्जिंग स्टेशन्स बनाने के लिए समझौता करार किए हैं।  आगे चलकर भी कई अन्य हितधारकों के साथ सहयोग से टाटा पावर अपने नेटवर्क का विस्तार करेगी।

 टाटा पावर ने टाटा मोटर्स और जग्वार लैंड रोवर को संपूर्ण चार्जिंग सुविधाएं मुहैया करने के लिए उनके साथ सहयोग किया है।  इसके तहत उनके लोकेशंस पर और उनके ग्राहकों को कारों के लिए होम चार्जिंग सुविधाएं शामिल हैं।

About Patrika Jagat