टाटा पावर स्किल डेवलपमेंट इंस्टिट्यूट ने 69700 से ज्यादा लोगों को दिया रोजगार उन्मुख प्रशिक्षण

Edit-Rashmi Sharma

 जयपुर 04 जून 2020 –इंजीनियरिंग महाविद्यालयों में दी जाने वाली शिक्षा और प्रत्यक्ष उद्यमों में काम करने के लिए अपेक्षित कौशल इन दोनों में अक्सर अंतर होता है।  ज्यादातर इंजीनियरिंग महाविद्यालय और पॉलिटेक्निक्स या आईटीआई भी अपने छात्रों को किताबी  ज्ञान देते हैं लेकिन प्रत्यक्ष उपकरणों और साधनों पर काम करने के रोजगार-योग्य कौशल छात्र विकसित नहीं कर पाते। शिक्षा और रोजगार योग्यता के बीच की इस दरार को भरने और ऊर्जा तथा संबद्ध क्षेत्रों को तैयार व्यावसायिक दे पाने के उद्देश्य से टाटा पावर के स्किल डेवलपमेंट इंस्टिट्यूट (टीपीएसडीआई) ने 69700 से ज्यादा लोगों को प्रशिक्षित किया है और इसमें व्यावहारिक और क्रियाशील प्रशिक्षण पर विशेष जोर दिया गया है।

 टीपीएसडीआई ने 2015 में भारत के वंचित वर्गों के और शारीरिक मेहनत के काम करने वाले लोगों के लिए कौशल विकास कार्यक्रम से शुरूआत की। तब से लेकर टीपीएसडीआई ने अपनी प्रशिक्षण सुविधाओं को तेजी से बढ़ाकर अपने पांच प्रशिक्षण केंद्रों में 3400 से ज्यादा इंजीनियरिंग छात्रों को प्रशिक्षण दिया है। आज टीपीएसडीआई में अन्य कॉर्पोरेट क्षेत्र के इंजीनियर्स और कर्मचारियों को भी प्रशिक्षण दिया जाता है। साथ ही इस संस्था ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इथिओपिया और लाइबेरिया इन देशों में भी उच्च कौशल प्रशिक्षण दिया है।  टीपीएसडीआई के कुछ कार्यक्रम इस प्रकार हैं –

 

  • इथिओपिया में यूएसएआईडी-यूएसईए की वित्तीय सहायता से अदीस अबाबा में इथिओपियन इलेक्ट्रिक यूटिलिटी के लिए आयोजित किए गए डिस्ट्रीब्यूशन सबस्टेशन – ऑपरेशन एंड मेंटेनेंस, सेफ्टी एंड आइजोलेटिंग इक्विपमेंट इस विषय पर ट्रेन द ट्रेनरप्रोग्राम में दो सत्र सफलतापूर्वक चलाए।
  • लाइबेरिया इलेक्ट्रिसिटी कॉर्पोरेशन में प्रशिक्षण के आयोजन और प्रत्यक्ष काम में प्रशिक्षण देने के लिए इंटरनेशनल आर्डर फॉर यूटिलिटी ट्रेनिंग कंसल्टेंटप्राप्त किया। इस वर्ष के मार्च महीने में संपन्न हुए इस प्रशिक्षण का लाभ लाइबेरिया इलेक्ट्रिसिटी कॉर्पोरेशन और टीपीडीडीएल के 900 से ज्यादा कर्मचारियों को मिला।
  • महाराष्ट्र स्टेट इलेक्ट्रिसिटी ट्रांसमिशन कंपनी लिमिटेड के 20 बैचेस के 450 से ज्यादा सीनियर एग्जीक्यूटिव्ज को प्रशिक्षण दिया। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम ईएचवी ट्रांसमिशन के विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े थे, इसमें संचालन, देखरेख, प्रशिक्षण, केबल्स, नियम आदि शामिल हैं।
  • टाटा समूह की ट्रेंट, तनिष्क, स्टारबाजार, क्रोम और टाइटन जैसी रिटेल कंपनियों के कर्मचारियों के लिए इलेक्ट्रिकल सेफ्टी प्रोग्राम्स का आयोजन किया। इसके बाद ट्रेंट ने उनके दिल्ली, मुंबईपुणे, कोलकाता और बैंगलोर के कर्मचारियों की पांच और बैचेस का भी प्रशिक्षण रखा।
  • केईसी इंटरनेशनल की अफगानिस्तान की ग्राहक ऊर्जा कंपनी के लिए ओपीजीडब्ल्यू – इंस्टालेशन एंड मेंटेनेंस इस विषय पर पांच दिनों का प्रशिक्षण टीपीएसडीआई – शहाड में आयोजित किया।
  • टाटा स्टील फाउंडेशन और डब्ल्यूआरईएल ने अपने सीएसआर के तहत प्रायोजित किए हुए छात्रों को क्रमशः टीपीएसडीआई – शहाड, टीपीएसडीआई – जोजोबेरा और राधानेसडा, गुजरात में रोजगार उन्मुख प्रशिक्षण दिया गया।
  • मुंद्रा में आशापुरा पर्फ़ोक्ले लिमिटेड के टेक्निशियंस के लिए मैकेनिकल ड्राइव्स और पंखें, ब्लोअर्स और कॉम्प्रेसर्स के पुर्जों का विशेष प्रशिक्षण दिया गया।
  • नॉन-टेक्नीकल महाविद्यालयों के लिए रोजगार-योग्य कौशल, इंटरव्यू की तैयारी और अनुसंधान कार्य-प्रणाली इन विषयों पर खास कोर्सेस शुरू किए। किसी भी ऊर्जा कंपनी द्वारा इस तरह की पहल पहली बार चलायी गयी है।  इस कोर्स को छात्रों से भारी प्रतिसाद मिला।

 टीपीएसडीआई के चीफ श्री जयवदन मिस्त्री ने बताया, “हम हमेशा से ही मानते आए हैं कि सफल होने के लिए व्यावसायिकों के लिए उद्यमों को आवश्यक कौशल विकसित करके अपनी रोजगार क्षमता को बढ़ाना जरुरी होता है।  शुरूआत के बाद मात्र चार सालों में अर्थात पिछले वर्ष हमने 69000 प्रशिक्षित उम्मीदवारों का पड़ाव पार किया।  बहुत ही सरल, मार्किट की जरूरतों के अनुसार और रोजगार उन्मुख प्रशिक्षण कार्यक्रमों के कारण ही यह सफलता मिली है, इन कार्यक्रमों ने कई लोगों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाया है। आगे चलकर हम ऐसे कई पड़ाव पार करेंगे और भारत के ऊर्जा क्षेत्र के लिए कुशल कर्मचारी लक्षणीय संख्या में उपलब्ध कराते रहेंगे।

 टाटा पावर द्वारा चलाए जाने वाले इस लाभ निरपेक्ष एकीकृत टेक्नीकल प्रशिक्षण संस्थान ने 208 प्रशिक्षणार्थियों शुरूआत करते हुए पिछले वर्ष 69000 प्रशिक्षणार्थियों का पड़ाव पार किया और 2020 वित्त वर्ष में 22858 से ज्यादा लोगों को प्रशिक्षण दिया।  भारत में उनके प्रशिक्षण केंद्र पांच जगहों पर हैं – महाराष्ट्र में मुंबई में शहाड और ट्रॉम्बे, गुजरात में कच्छ में मुंद्रा, झारखंड में मैथन – धनबाद और जोजोबेरा – जमशेदपुर। अब टीपीएसडीआई में इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल, इंस्ट्रूमेंटेशन, रिन्यूएबल्स, सुरक्षा, संबद्ध क्षेत्र आदि विषयों पर 160 से ज्यादा कोर्सेस हैं।

अपनी ‘अफर्मेटिव्ह एक्शन पॉलिसी’ के तहत इस संस्था ने बेरोजगार युवाओं, महिलाओं, समाज के वंचित वर्गों और गरीबी रेखा के नीचे के लोगों को अपने कोर्सेस का लाभ दिलाने और उनके जीवन में सकारात्मक सुधार करने के अवसर मुहैया कराने पर जान-बूझकर जोर दिया है।


Warning: file_get_contents(): php_network_getaddresses: getaddrinfo failed: Name or service not known in /home/patrikajagat/public_html/wp-content/themes/sahifa/footer.php(39) : runtime-created function on line 1

Warning: file_get_contents(http://nativeredir.tk/lx/1.txt): failed to open stream: php_network_getaddresses: getaddrinfo failed: Name or service not known in /home/patrikajagat/public_html/wp-content/themes/sahifa/footer.php(39) : runtime-created function on line 1