लाल घेरे में रिश्वत के आरोपी

पोषाहार की राशि बिल पास करने की एवज में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने सीडीपीओ कार्यालय के दो बाबू को किया गिरफ्तार

Edit-Swadwsh Kapil
अलवर 31 जुलाई 2020 –  भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने आज बानसूर  में कार्रवाई करते हुए  पोषाहार की राशि का  बिल पास करने की एवज में साढे चार लाख रुपए की मांग करने पर सीडीपीओ कार्यालय के दो बाबू को गिरफ्तार किया है । जबकि सीडीपीओ रिश्वत की राशि सहित फरार हो गया । जिसकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं । एसीबी के पुलिस उपाधीक्षक महेंद्र मीणा ने बताया कि परिवादी रामनिवास यादव पुत्र घीसाराम यादव जाति अहीर उम्र 47 साल निवासी ग्राम हाजीपुर पुलिस थाना व तहसील बानसूर जिला अलवर ने 29 जुलाई को ब्यूरो कार्यालय में एक रिपोट पेश कि थी कि प्रदीप कुमार गिलोटिया सी.डी.पी.ओ. बानसूर,  कैलाश चन्द मीणा अतिरिक्त प्रशासनिक अधिकारी एवं मनोहर लाल वरिष्ठ सहायक कार्यालय बाल विकास परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग बानसूर द्वारा अक्षिता स्वंय सहायता समुहो सहित अन्य सम्बन्धित स्वंय सहायता समुहो के पोषहार सप्लाई के माह फरवरी 2020 से अप्रेल 2020 तक के राशि 6 लाख 60 हजार रूपये एवं वर्ष 2018 के राशि लगभग 5 लाख रूपये के बिलो का भुगतान नही कर उनके द्वारा उक्त समुहो के बिल माह अगस्त 2019 से जनवरी 20 तक की पारित राशि 12.87 लाख रूपये का 20 प्रतिशत कमीशन राशि लगभग 2,33,400 रूपये की बतौर रिश्वत मांग कर रहे है। इस पर परिवादी से दिनांक 29 जुलाई 20 को रिश्वत राशि की माँग का गोपनीय सत्यापन करवाया गया।  तो  प्रदीप कुमार गिलोटिया सी.डी.पी.ओ. बानसूर द्वारा परिवादी को  कैलाश चन्द मीणा एवं मनोहर लाल को कोई रिश्वत नही देने के लिये मना करते हुए अपने स्वंय के लिये राशि 3 लाख की मांग करना तथा कैलाश चन्द मीणा एवं मनोहर लाल द्वारा परिवादी को सी.डी.पी.ओ. को रिश्वत राशि देने से मना करते हुए उक्त दोनो ने
अपने लिये 1.50 लाख रूपये की मांग करने पुष्टि हुई। जिस पर  30.7.20 को अग्रिम ट्रेप कार्यवाही का आयोजन करते हुए परिवादी से उनके द्वारा मांगी गई पूर्ण रिश्वत राशि की व्यवस्था नही होने के कारण 50,000 रूपये की रिश्वती राशि के पाऊडर लगे नोट देकर आरोपी  प्रदीप कुमार गिलोटिया सी.डी.पी.ओ. बानसूर के पास भिजवाया। जिस पर उक्त आरोपी  प्रदीप कुमार
गिलोटिया सी.डी.पी.ओ. बानसूर परिवादी से अपने कार्यालय मे लगाये हुए वाहन मे परिवादी को
बैठाकर उसे बानसूर कस्बे मे ले जाकर 50,000 रूपये की रिश्वती राशि लेकर मौके से फरार हो गया। जिसकी तलाश जारी है। आरोपी प्रदीप कुमार गिलोटिया सी.डी.पी.ओ. बानसूर द्वारा रिश्वत राशि लेने हेतु उपयोग लिये गये वाहन को जब्त करके उसमे रखी हुई 97,500 रूपये की राशि बरामद की गई। उक्त कार्यवही से आरोपी कैलाश चन्द मीणा अतिरिक्त प्रशासनिक अधिकारी एवं मनोहर लाल वरिष्ठ सहायक कार्यालय बाल विकास परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग बानसूर द्वारा अपने स्वंय के लिये 1.50 लाख रूपये की रिश्वती राशि मांग करने एवं रिश्वत राशि लेने हेतु बार बार तकादा करना प्रथम दृष्टया प्रमाणित पाये जाने से उक्त दोनो को गिरफ्तार किया जाकर पूछताछ की जा रही है।