भामाशाह व समाजसेवी डॉ अमरनाथ गुप्ता का निधन

Edit-Swdesh Kapil
खैरथल( अलवर) 1 सितम्बर 2020 – कस्बे के लोकप्रिय व गरीबो के प्रति हमदर्दी रखने वाले चिकित्सक डॉ अमरनाथ गुप्ता का गत रात्रि गुड़गांव के आर्टेमिस अस्पताल में निधन हो गया ।वे 69 वर्ष के थे ।
आज का सोमवार कस्बे के लोगो के लिए काला दिन रहा ।गरीबो के लिए अपना तन मन न्यौछावर करने वाले डॉ गुप्ता ने गरीबो को निशुल्क चिकित्सा सेवा प्रदान की ।वही पिछले 20 वर्षो से अनवरत रूप से अभी तक भी कस्बा सहित आसपास के ग्रामीण सरकारी स्कूलों में गरीब बच्चों के लिए ड्रेस ,कॉपी ,जूते सहित जो फीस जमा नही करा सकते थे उनकी फीस आदि का निशुल्क वितरण किया ।
उन्होंने जातिपाती का कभी भेदभाव अपने मन मे नही रखा ।मुस्लिम समुदाय को कई वर्षों तक रोजा इफितहार दावत का भी आयोजन किया ।वही अलवर स्थित मेव बोर्डिंग में दो लाख रुपये की लागत से कमरा निर्माण कराया ।उन्होंने आनन्द नगर स्कूल में दो लाख रुपये की लागत से भवन निर्माण कराया ।साल भर पूर्व ही अलवर अग्रवाल समाज को ढाई लाख रुपये की मदद कर कमरा निर्माण कराया ।
डॉ गुप्ता मूलतः बहरोड़ के निवासी थे ।उन्होंने 1974 में बीकानेर मेडिकल कालेज से एमबीबीएस करने के बाद 1976 में उनकी प्रथम पोस्टिंग बास कृपाल नगर में हुई ।उसके बाद 16 साल तक खैरथल अस्पताल में ही अपनी सेवाएं दी ।इस दौरान उनका दो बार तबादला भी हुआ लेकिन स्थानीय जनता के प्रयासों से तबादला कैंसिल हुए ।1992 में लोगो के समर्पण को देखते हुए कस्बे के हरसौली रोड स्थित वेयरहाउस गोदाम के पास अपना निजी अस्पताल गुप्ता नर्सिंग होम के नाम से खोला ।यहाँ भी उन्होंने कमाई पर ध्यान नही देते हुए अब तक भी अनेको लोगो के निशुल्क उपचार किया ।
 उनकी शव यात्रा में उनके साथी रहे अनेको चिकित्सक ,व्यापारियों ,मेव समाज के लोगो सहित अनेको गणमान्य नागरिक मौजूद रहे ।

About Patrika Jagat