एसबीआई लाइफ ने व्‍यापक फाइनेंशियल इम्‍यूनिटी सर्वे का अनावरण किया

Editor-Rashmi Sharma

जयपुर 29 सितम्बर 2020 – एसबीआई लाइफ इंश्‍योरेंस, जो देश के सबसे विश्‍वसनीय जीवन बीमाकर्ताओं में से एक है, ने व्‍यापक उपभोक्‍ता सर्वेक्षण का अनावरण किया। इस सर्वेक्षण में कोविड बाद की दुनिया में वित्‍तीय प्रतिरोधी क्षमता के प्रति उपभोक्‍ता प्रवृत्तियों के बारे में महत्‍वपूर्ण बातें बताई गई हैं। एसबीआई लाइफ ने निल्‍सन कंपनी के साथ मिलकर अंडरस्‍टैंडिंग कंज्‍यूमर एटिट्यूड टोआर्ड्स फाइनेंशियल इम्‍यूनिटीसर्वेक्षण शुरू किया। इस सर्वेक्षण में पूरे भारत के 13 प्रमुख शहरों के 2,400 से अधिक उपभोक्‍ताओं ने हिस्‍सा लिया।

जाहिर है, COVID -19 के मद्देनजर, व्यक्तिगत शारीरिक प्रतिरक्षा बनाए रखना पहले से ही है, लगभग हर प्रतिवादी ने किसी न किसी तरह से शारीरिक प्रतिरक्षा पर ध्यान केंद्रित करने की पुष्टि की है। वास्तव में, 10 में से 8 भारतीयों को पता है कि ‘तनाव’ मानसिक और शारीरिक प्रतिरक्षा को कम करता है।

यह सर्वेक्षण आज उपभोक्ता की शीर्ष वित्तीय चिंताओं के बारे में पूछताछ करके तनाव के कारण को बेहतर ढंग से समझने का प्रयास करता है। तनाव के शीर्ष तीन कारणों को जिम्मेदार माना जाता है (1) गंभीर बीमारी के खिलाफ वित्तीय सुरक्षा, (2) परिवार का सदस्य किसी भी जीवन शैली की बीमारी या कोविद -19 से संक्रमित होना और (3) नौकरी या आय में कमी। उपभोक्ताओं द्वारा उद्धृत वित्तीय चिंताओं के कारण जीवनशैली रोगों के वित्तीय प्रबंधन के कारण उत्पन्न तनाव को कम करते हैं। आमतौर पर, 50% से अधिक भारतीय जीवनशैली संबंधी बीमारियों से संबंधित किसी भी वित्तीय आपात स्थिति का सामना करने के लिए पर्याप्त रूप से तैयार नहीं हैं।

उज्जवल पक्ष पर, महामारी संरक्षण की आवश्यकता पर एक अहसास लाया गया है, 10 में से 7 भारतीयों के पास जो वर्तमान में एक क्रिटिकल इलनेस कवर के मालिक नहीं हैं, स्पष्ट रूप से अगले तीन महीनों में एक खरीदने का इरादा व्यक्त करते हैं। सर्वेक्षण द्वारा फेंकी गई एक और उत्साहवर्धक जानकारी यह है कि 10 में से 8 उपभोक्ता परिवार के भविष्य की सुरक्षा के स्पष्ट उद्देश्य के साथ जीवन और स्वास्थ्य बीमा खरीदते हैं।

सर्वेक्षण के निष्कर्षों के बारे में बोलते हुए, श्री रवि कृष्णमूर्ति, अध्यक्ष ज़ोन I, एसबीआई लाइफ ने कहा, “जबकि व्यक्तिगत और पारिवारिक सुरक्षा वर्तमान स्थिति में सबसे बड़ी चिंता है, महामारी ने हम में से प्रत्येक के लिए प्रतिरक्षा के महत्व पर फिर से महत्‍वपूर्ण बना दिया है। हालांकि, किसी भी स्वास्थ्य आपातकाल के प्रति वित्तीय तैयारियों की उपभोक्ता की स्थिति भयावह है, भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए मजबूत वित्तीय प्रतिरक्षा बनाने की आवश्यकता पर एक उत्साहजनक जागरूकता है।” श्री कृष्णमूर्ति ने आगे कहा, “एसबीआई लाइफ में, हम मानते हैं कि वित्तीय प्रतिरक्षा प्राप्त करना पूर्ण क्षमता हासिल करने पर आधारित है और हम देश भर में व्यक्तियों के लिए सही सुरक्षा उपकरण प्रदान करने के लिए निरंतर प्रयास करेंगे।”

आगे पढ़ने के लिए, कृपया एसबीआई लाइफ के फाइनेंशियल इम्युनिटी सर्वे के प्रति उपभोक्ता रवैया को समझने के लिए ’लिंक का अनुसरण करें : <MICROSITE LINK – TO BE ADDED>

About Patrika Jagat