विद्यामंदिर के छात्र फिर जेईई मेन्स और एडवांस में अव्वल आए

Editor-Rashmi Sharma

जयपुर 09 अक्टूबर 2020 -आईआईटीजेईई और एनईईटी परीक्षा की तैयारी के लिए मशहूर विद्यामंदिर क्लासेस के लिए सितंबर में जेईई 2020 एडवांस्स और मेन्स के उत्कृष्ट परिणाम साझा करना खुशी की बात है। विद्यामंदिर क्लासेस ने इस बार भी साल दर साल बेहतरीन परिणाम देने की 3 दशकों की परंपरा जारी रखी। अब तक विद्यामंदिर के 17,000 से अधिक विद्यार्थी आईआईटी का सपना पूरा कर चुके हैं।

इस बार टॉप 100 में 5 विद्यामंदिर के छात्र थे। जेईई एडवांस 2020 में 4 जोन के टॉपरों (पूर्व) में एक विद्यामंदिर का विद्यार्थी था। जेईई मेन्स से लेकर एडवांस तक सर्वाधिक चयन दर वीएमसी के छात्रों ने दर्ज की।

वीएमसी के छात्रों ने जेईई मेन 2020 में अन्य साथियों से बेहतर प्रदर्शन किया। इसके परिणामों की घोषणा 11 सितंबर, 2020 को की गई थी। टॉप 10 में 3 वीएमसी के छात्र थे। इसी तरह 24 में 4 वीएमसी के छात्र थे जन्होंने 100 पर्सेंटाइल स्कोर किया। विद्यामंदिर के 5 छात्र दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, बिहार और जम्मू-कश्मीर  राज्य के टॉपर थे।

इन परिणामों के साथ कुल मिलाकर 52 छात्रों ने 99.9 पर्सेंटाइल या ज्यादा अंक प्राप्त किए और 351 छात्रों ने 99 पर्सेंटाइल या ज्यादा अंक प्राप्त किए।

हमारे 7 छात्र देश के टॉप 75 में शामिल हैं।

वीएमसी की विशिष्ट शिक्षा पद्धति की वजह से सीखने के सर्वश्रेष्ठ परिणाम सामने आए हैं। इंजीनियरिंग और मेडिकल दोनों की प्रवेश परीक्षाओं में वीएमसी के छात्रों ने सर्वाधिक चयन दर दर्ज की है।

विद्यामंदिर क्लासेस के संस्थापक श्री बृजमोहन ने इस अवसर पर कहा, “हमारे छात्र हमारा स्वाभिमान हैं जिन्होंने एक बार फिर विद्यामंदिर के परचम को लहराया है। उन्होंने उत्कृष्ट परिणाम दिए हैं। हमें यकीन है कि हमारे छात्र जीवन में आगे भी बहुत ही सफल परिणाम देंगे। हम करियर के लिए सर्वश्रेष्ठ कॉलेज की पहचान करने के सबसे महत्वपूर्ण समय में उनकी मदद करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमारे सभी छात्र, शिक्षक और सहायक कर्मचारी बधाई के हकदार हैं जिन्होंने मिल कर कड़ी मेहनत की है और लगातार लक्ष्य पूरे करते रहे हैं। हमारे छात्रों के सपने हमारे सपने हैं और उन्हें जीवन में सफलता की मंजिल पर देख कर हमें खुशी होती है।’’

“मैं कक्षा 9 में था जब विद्यामंदिर क्लासेस आया। यहां मुझे सबसे अच्छी पढ़ाई, पढ़ाई की सामग्री का लाभ मिला और पूरे 4 वर्षों तक सही मार्गदर्शन के साथ मेरा हौसला बुलंद रखा गया। मैं अपनी सफलता का श्रेय अपने शिक्षकों, मार्गदर्शकों, परिवार के लोगों और दोस्तों को देता हूं, जिन्होंने मुझे सदैव बेहतर करने उत्साह दिया,’’ तुषार सेठी (ऑल इंडिया रैंक 10 (मेन्स) और दिल्ली राज्य के टॉपर ने कहा।

एक अन्य टॉपर लक्ष्य गुप्ता (एआईआर 9 और दिल्ली राज्य के टॉपर – जेईई मेन) ने बताया, “मेरा सपना देश के सर्वश्रेष्ठ कॉलेज में पढ़ कर राष्ट्र का मान बढ़ाना है। मैं जेईई के लिए हर दिन 5-6 घंटे पढ़ाई करता था। कक्षा 11 में था जब मैं रेगुलर क्लासरूम प्रोग्राम में आया और इसके बाद वीएमसी के मार्गदर्शन में तैयारी कर रहा था।”