टाटा एआईए ने अपने कर्मचारियों को दिया ‘रक्षा का टीका’ लगभग सभी कर्मचारियों का टीकाकरण हुआ

मुंबई, 08 जुलाई, 2021:  टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस ने अपने कर्मचारियों को रक्षा का टीकासुविधा दी है, टीकाकरण के लिए पात्र 99% कर्मचारियों को पिछले दो महीनों में कोविड-19 के खिलाफ टीके की कम से कम पहली खुराक मिल चुकी है। अपने कर्मचारियों के टीकाकरण का महत्वपूर्ण पड़ाव पार करने वाली कुछ कंपनियों में अब टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस भी शामिल हुई है।

कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण को प्राथमिकता देने और ग्राहकों, सलाहकारों और कर्मचारियों जैसे हितधारकों को कई अलग-अलग प्लेटफॉर्म्स के ज़रिए टीकाकरण के प्रति जागरूक करने के लिए टाटा एआईए लाइफ ने पहले टीका और रक्षा का टीका अभियान शुरू किए हैं।

टीके की आपूर्ति में कमी की चुनौती को टाटा समूह की अन्य कंपनियों के सहयोग से दूर किया गया और भारत भर में आयोजित शिविरों में कर्मचारियों को पहली खुराक दी गई। 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी कर्मचारियों को पहले ही एक खुराक दी जा चुकी है।

अपने कर्मचारियों के शारीरिक, भावनात्मक और वित्तीय कल्याण के लिए टाटा एआईए लाइफ ने कई उपाय किए हैं। बीमारी के पहले और बीमारी के बाद की देखभाल, आपातकालीन सेवाएं, वित्तीय सहायता, टीकाकरण, नियमों के बारे में जागरूकता, भावनात्मक और शारीरिक कल्याण, चिकित्सा सुविधा सहायता आदि सेवाएं शामिल की गयी हैं।

टीकाकरण लागत की प्रतिपूर्ति से लेकर हर खुराक के लिए एक दिन की छुट्टी तक सभी सहायता सभी कर्मचारियों को प्रदान की गयी।

टीकाकरण के अलावा, टाटा एआईए लाइफ ने अपने कर्मचारियों के लिए कोविड कवच पॉलिसी का भी विस्तार किया है, जिसमें कर्मचारी और उनके पति या पत्नी को अस्पताल में भर्ती होने के खर्च के लिए हर एक को 1 लाख रुपयों की बीमा सुरक्षा दी जाती है। ग्रुप टर्म लाइफ इंश्योरेंस के तहत ग्रुप मेडिक्लेम कवर को कर्मचारियों, उनके पति या पत्नी और 2 बच्चों के लिए बढ़ाकर 7 लाख रुपये किया गया है। दुर्भाग्यवश मृत्यु हो जाने पर कर्मचारी के वार्षिक वेतन के छह गुना रकम के बराबर बीमा प्रदान किया गया है। तत्काल चिकित्सा खर्च में सहायता के लिए 50,000 रुपयों का एडवांस पाने की सुविधा भी कर्मचारियों को दी गयी है।

ऑक्सीजन सिलेंडर और आरटी-सीपीआर किट जैसे आपातकालीन सहायता उपकरण उपलब्ध कराए गए। कंपनी ने जिंजर होटल्स और पूरे भारत में दूसरे 45 आइसोलेशन सेंटर्स में क्वारंटाइन सुविधाएं भी प्रदान की। होम क्वारंटाइन के दौरान कर्मचारियों को फोर्टिस अस्पतालों से केयर@होम पैकेज दिए गए।

अपने कर्मचारियों और उनके परिवार वालों को अपनी चिकित्सा ज़रूरतों के लिए घर से बाहर निकलना न पड़ें इसके लिए प्रैक्टो प्लस हेल्थ प्लान उपलब्ध कराया गया है। इसमें विशेषज्ञ डॉक्टरों के साथ ई-कंसल्टेशनडिजिटल प्रिस्क्रिप्शन, मेडिकल टेस्ट्स के लिए घर से सैम्पल्स कलेक्शन और डिस्काउंटेड कीमतों में दवाइयों की होम डिलीवरी शामिल हैं। टाटा एआईए लाइफ द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रमों में क्योरफिट के साथ साझेदारी भी शामिल है।  इसमें फिटनेस और योग, स्वस्थ भोजन, मानसिक स्वास्थ्य और प्राथमिक देखभाल के वेलनेस प्रोग्राम्स शामिल हैं।

कुछ असाधारण स्थितियों में कर्मचारियों और उनके परिवारों का समर्थन करने के लिए टाटा एआईए लाइफ के कर्मचारियों ने गोक्राउडेरा के साथ साझेदारी में एक कर्मचारी क्राउड फंडिंग पहल भी शुरू की।

इन सभी उपायों का निर्णय और निगरानी एक शीर्ष समिति द्वारा की जाती है, जिसमें कंपनी के मुख्य वितरण अधिकारी, मानव संसाधन प्रमुख, संचालन प्रमुख और एक स्पेशल टास्क फ़ोर्स शामिल हैं।

टाटा एआईए लाइफ के कार्यकारी उपाध्यक्ष और एचआर के प्रमुख क्रिस्टिल भेसनिया ने कहा, टाटा एआईए लाइफ में हमें अपने लोगों पर बहुत गर्व है और हम उनकी भलाई और खुशी के लिए हर संभव कदम उठाते हैं। हमारे कर्मचारी हमारे साथ खड़े हैं और ज़्यादा से ज़्यादा भारतीयों को जीवन बीमा के लाभ दिलाने के लिए मेहनत कर रहे हैं। उनकी चिंताओं को कम करने के लिए, खास कर उनके प्रियजनों को खुश रखने के लिए एक कंपनी होने के नाते प्रयास करते रहना केवल हमारी जिम्मेदारी ही नहीं बल्कि हमारा उद्देश्य है।” 

 

About Patrika Jagat